परिवार को दें हेल्थ इंश्योरेंस की सौगात, होगी बड़ी बचत

|

Published: 07 Jan 2018, 03:52 PM IST

जानिए बचत के लिए क्यों जरुरी है हेल्थ इंश्योरेंस

नई दिल्ली। अगर हम प्रदूषण को खत्म नहीं करेंगे तो देर-सवेर यह हमें मार डालेगा। प्रदूषण एक बड़ी समस्या है और हमारे शरीर पर इसका नकारात्मक प्रभाव पडऩा शुरू हो चुका है। प्रदूषण और स्वास्थ्य पर लैन्सेट कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2015 में वायु प्रदूषण से पूरी दुनिया में 90 लाख लोगों की समय से पहले मृत्यु हो गई। इनमें से 25 लाख से अधिक लोगों की मौत भारत में हुई थी, जो किसी भी देश में सबसे अधिक है। अस्पतालों की रिपोर्ट के अनुसार एक दिन के भीतर ही प्रदूषण से संबंधित बीमारियों से जूझने वाले मरीजों की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई। स्वास्थ्य देखभाल की लागत में दिन-प्रतिदिन होने वाली बढ़ोतरी से सुरक्षा हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरत से इनकार नहीं किया जा सकता।

आर्थिक बोझ कम करने में मददगार

स्वास्थ्य बीमा एक आवश्यकता है। इसे स्वास्थ्य में निवेश की तरह देखना चाहिए। आप सोच सकते हैं कि आपको कभी इसके इस्तेमाल की जरूरत नहीं पड़ेगी, लेकिन इससे आपको उन दिन के लिए तैयार होने से रोकना नहीं चाहिए, जब आपको इसका उपयोग करना पड़ सकता है। आज छोटे प्रीमियम भुगतान करने से भविष्य में आप किसी भी चिकित्सकीय आपात स्थिति के कारण होने वाले आर्थिक बोझ को कम कर सकते हैं।

4 बिंदुओं पर अवश्य विचार करें

1. आपको अपने परिवार को भी स्वास्थ्य बीमा के जरिए कवर करना चाहिए। युवा परिवारों को फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदने पर विचार करना चाहिए, जो 25 वर्ष की उम्र तक बच्चों को कवर करता है।

2. स्वास्थ्य बीमा लेने से पहले विचार करें, जो किसी भी गंभीर बीमारी की स्थिति में आपके लिए मददगार साबित हो। कुछ स्वास्थ्य बीमा योजनाएं कैंसर और अन्य गंभीर बीमारियों को कवर करती हैं।

3. इलाज पर होने वाले व्यय में सिर्फ अस्पताल के खर्च शामिल नहीं हैं, बल्कि इसमें कई खर्चे शामिल हैं। स्वास्थ्य बीमा कवरेज की जांच करें और पता लगाएं कि यह चिकित्सा से जुड़े खर्च में कैसे मदद करता है।

4. अपने बुढ़ापे और सेवानिवृत्ति की योजना बनाएं। आपके एंप्लॉयर ने आपके स्वास्थ्य का बीमा किया है, फिर भी आपको व्यक्तिगत या पारिवारिक स्वास्थ्य बीमा योजना खरीदने पर विचार करना चाहिए।