बेहतर फायदे के लिए ऐसे करें म्यूचुअल फंड में निवेश

|

Published: 26 Feb 2018, 03:22 PM IST

म्यूचुअअल फंड में निवेश करने के अपने फायदे हैं। हालंकि कई लोगों को म्यूचुअल फंड में निवेश करने की अधिक जानकारी नहीं होती हैं।

बेहतर फायदे के लिए ऐसे करें म्यूचुअल फंड में निवेश

नई दिल्ली। आजकल निवेश करने के लिए म्यूचुअल फंड लोगों की पहली पसंद बनता जा रहा है। म्यूचुअअल फंड में निवेश करने के अपने फायदे हैं। हालंकि कई लोगों को म्यूचुअल फंड में निवेश करने की अधिक जानकारी नहीं होती हैं। ऐसे में हम आज आपको निवेश से जुड़ी ऐसी जानकारी दे रहे जिसे फॉलो करने पर बेहतर रिटर्न पा सकते हैं।


अपने गोल को ध्यान में रखें

म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहने आपको अपने गोल को ध्यान में रखना होगा। इससे आपको ये पता चल सकेगा की निवेश के लिए कितनी राशि की जरुरत होगी। ये करना बहुता आसान है। यदि आपको छोटी अवधि के लिए निवेश करना है तो आपको डेब्ट स्कीम में निवेश करना चाहिए। ऐसा करने से आप बेवजह रिस्क से बच सकेंगे। वहीं दूसरी तरफ यदि आप लंबी अवधि के लिए निवेश करने का प्लान बना रहे हैं तो आप इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। इससे आपको भविष्य में बेहतर रिटर्न मिल सकता है।


सभी स्कीम्स के बारे में करे पता

डेब्ट और इक्विटी दोनो ही स्कीम्स में भी कई विभिन्न तरह के स्कीम उपलब्ध है। ऐसे में आपके पास सबसे बड़ा असमंजस ये होगा की कौन सा स्कीम आपके लिए बेहतर है। इसके लिए आप आपने गोल, निवेश राशि और रिस्क को ध्यान में रखना होगा। इक्विटी म्यूचुअल फंड को फॉलो करना सबसे आसान है। इसमें आपको बस ये देखना है कि क्या ये स्कीम आपके रिस्क प्रोफाइल के हिसाब से कितना बेहतर है।


म्यूचुअल फंड एडवाइजर से लें सलाह

निवेश से पहले किसी म्यूचुअल फंड एडवाइजर से सलाह जरूर लेना चाहिए। इससे आपको निवेश की औपचारिकताओं और अलग-अलग स्कीम के बारे में जानकारी लेने में आसानी होगी। इसके साथ ही आपके दुविधाओं का भी जवाब मिल सकेगा। कई सलाहकार तो अपने क्लाइंट को समय समय पर निवेश को मॉनिटर करते है और बारे में जानकारी देते रहते और है। आपके पास ब्रोकिंग सिस्टम के तहत भी निवेश का विकल्प उपलब्ध रहता है।


खुद भी कर सकते हैं निवेश

यदि आपको निवेश की औपचारिकताओं, उससे जुड़े रिस्क, कब और कैसे निवेश करना है जैसी जानकारियंा है तो आप स्वंय भी निवेश कर सकते है। इससे कमीशन के रुप में खर्च होने वाला रकम बच सकता है। यदि आप इस रकम को भी निवेश करते है आपको ज्यादा रिटर्न मिल सकता है। इस तरह के निवेश को डायरेक्ट प्लान कहा जाता है। डायरेक्ट प्लान के तहत निवेश करने के लिए आपको पैन कार्ड, आधार कार्ड और चेक बुक की आवश्यकता होगी। आप अपने नजदीकी म्यूचुअल फंड ब्रांच में जाकर भी निवेश प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। आजकल कई तरह के वेबसाइट और मोबाइल ऐप भी निवेश की सुविधा प्रदान करते हैं।