Latest News in Hindi

खुशखबरी: यूपी के इस शहर से अगले महीने से उड़ने लगेंगे हवाई जहाज

By Jai Prakash

Sep, 12 2018 09:57:14 (IST)

पिछले दिनों राज्य सरकार और उड्डयन मंत्रालय के प्रस्ताव पर प्रदेश के कुछ जिलों से हवाई सेवा शुरू करने की मुहर लगाईं थी।

मुरादाबाद: पूरी दुनिया में पीतल नगरी के नाम से मशहूर मुरादाबाद अब जल्द ही दुनिया से और तेजी से जुड़ने के लिए हवाई सेवा से भी जुड़ने जा रहा है। जिसको लेकर अब तैयारियां अपने अंतिम रूप में हैं। सम्भावना जताई जा रही है कि रामपुर रोड स्थित भदासना हवाई पट्टी से पहली उड़ान भरी जा सके। इसके लिए निर्माण निगम ने टेंडर जारी कर दिए हैं। जिसमें एअरपोर्ट के लिए मूलभूत जरुरी चीजें जल्द पूरा करनी है।

Teacher”s day 2018:ये योग गुरु इन गरीब बच्चों की इस तरकीब से बदल रही तकदीर


पहले लग चुकी है मुहर

पिछले दिनों राज्य सरकार और उड्डयन मंत्रालय के प्रस्ताव पर प्रदेश के कुछ जिलों से हवाई सेवा शुरू करने की मुहर लगाईं थी। मुरादाबाद में पहले से हवाई पट्टी थी। जिस पर अभी तक सिर्फ राजकीय वाहन ही उतारते थे। इसे ही एअरपोर्ट के रूप में विकसित करने की कसरत शुरू हुई। क्यूंकि छोटे जहाज के लिए हवाई पट्टी पर्याप्त। पंतनगर एअरपोर्ट अधिकारीयों ने भी यहां सभी तकनीकी पहलुओं को मंजूरी दे दी थी। अब सिर्फ वाच टॉवर और एअरपोर्ट तक सड़क और बाउंड्री बनानी है। जिसे प्रशासन बहुत तेजी से बनवाने का दावा कर रहा है।

यूपी के इस शहर में टला बड़ा हादसा, सीएनजी पाइपलाइन में आग से उठने लगीं थी इतनी ऊंची लपटें

21 को पहली उड़ान

डीएम राकेश कुमार सिंह के मुताबिक उड़ान के लिए लगभग एअरपोर्ट तैयार है। कुछ चीजें जरुरी थी उनके टेंडर जारी हो गए हैं। सम्भवता 21 अक्टूबर को पहली उड़ान हो जाए। तब तक सारे काम निपटा लिए जायेंगे।

जब ये IPS अफसर शहर में लड़कियों के साथ साईकिल से निकला तो बरसने लगे फूल

किराया भी हो जायेगा सार्वजानिक

उड़ान की डेट के साथ ही अब एक अक्टूबर को टिकट का किराया भी सार्वजानिक हो सकता है। और अगर 21 से हवाई सेवा शुरू होती है तो पन्द्रह दिन पहले से बुकिंग भी शुरू हो जाएगी। फ़िलहाल एअरपोर्ट पर सुरक्षा के लिए पुलिस मुस्तैद है उन्हें और ट्रेनिंग दी जायेगी।

बाढ़ का कहर: अपराधियों से निपटने के साथ ही अब पुलिस ने बाढ़ से निपटने को संभाला मोर्चा

पीतल कारोबारी खुश

मुरादाबाद में एअरपोर्ट की शुरुआत से सबसे ज्यादा ख़ुशी शहर के पीतल निर्यातकों को है। क्यूंकि उन्हें और उनके बायर्स को अभी तक फ्लाईट लेकर दिल्ली तक आना पड़ता था और फिर उसके बाद सड़क मार्ग से शहर तक। लेकिन अब न सिर्फ समय बचेगा बल्कि पैसा भी बचेगा। पीतल कारोबारी राशिद इसे बड़ा कदम बता रहे हैं उनके मुताबिक़ इससे पीतल उद्योग को काफी फायदा होने वाला है।