YouTube ला रहा नया फीचर, पेरेंट्स के हाथ में होगा कंटेंट का कंट्रोल, नहीं चलेगी बच्चों की मनमर्जी

|

Published: 26 Feb 2021, 09:14 PM IST

  • इस फीचर की मदद से पेरेंट्स अपने बच्चों को ऐज रिस्ट्रिक्शन वाले वीडियो कंटेंट देखने से रोक सकते हैं।
  • इस फीचर के जरिए पेरेंट्स यह तय कर पाएंगे कि उनका बच्चा YouTube पर कौन सा कंटेंट देखे और कौन सा नहीं।

वीडियो प्लेटफॉर्म YouTube दुनियाभर में पॉपुलर है। बच्चे भी YouTube का एक्सेस करते हैं। लॉकडाउन के दौरान तो बच्चों ने YouTube का जमकर एक्सेस किया। बता दें कि YouTube पर हर तरह का कंटेंट उपलब्ध है। ऐसे में बच्चे उस पर कुछ भी देख सकते हैं। अब YouTube एक खास फीचर पर काम कर रहा है। यह फीचर पेरेंट्स के बहुत काम का है। इस फीचर के जरिए पेरेंट्स यह तय कर पाएंगे कि उनका बच्चा YouTube पर कौन सा कंटेंट देखे और कौन सा नहीं। इस फीचर की मदद से पेरेंट्स अपने बच्चों को ऐज रिस्ट्रिक्शन वाले वीडियो कंटेंट देखने से रोक सकते हैं। जानते हैं YouTube के इस फीचर के बारे में।

सिर्फ YouTube ऐप पर उपलब्ध होगा यह फीचर
YouTube का यह नया फीचर सिर्फ YouTube ऐप पर ही उपलब्ध होगा। यह फीचर YouTube Kids ऐप पर उपलब्ध नहीं होगा। बताया जा रहा है कि शुरूआत में इस फीचर बीटा टेस्टर के लिए जारी किया जाएगा। टेस्टिंग के बाद इसे सभी यूजर्स के लिए रोलआउट कर दिया जाएगा।

जारी करेगा तीन सेटिंग्स
बताया जा रहा है कि यूट्यूब के इस नए फीचर में तीन अलग-अलग सेटिंग्स होंगी। इनमें एक्सप्लोर, एक्सप्लोर मोर, और मोस्ट ऑफ यूट्यूब शामिल हैं। एक्सप्लोर सेटिंग उन बच्चों के लिए होंगी जो YouTube Kids के हिसाब से बड़े है। जब पेरेंट्स इस सेटिंग का इनेबल करेंगे तो उनके बच्चे 9+ ऐज वाले वीडियो को देख पाएंगें। इसमें वे व्लॉग्स, ट्यूटोरियल, गेमिंग वीडियो, म्यूजिक क्लिप, न्यूज वैगरह देख सकेंगे।

एक्सप्लोर मोर सेटिंग
YouTube की एक्सप्लोर मोर सेटिंग को इनेबल करने से बच्चों को वीडियो देखने के ज्यादा ऑप्शन मिलेंगे। इस फीचर के तहत वे यूट्यूब पर लाइव स्ट्रीम भी कर सकेंगे। ये सेटिंग 13 साल से ऊपर के बच्चों के लिए ठीक रहेगी।

मोस्ट ऑफ यूट्यूब
नए फीचर के तहत जो तीसरी सेटिंग होगी वह मोस्ट ऑफ यूट्यूब होगी। इस सेटिंग को इनेबल करने पर ज्यादातर बच्चे यूट्यूब पर मौजूद लगभग सभी विडियो देख पाएंगें। हालांकि इसमें वे ऐज रिस्ट्रिक्शन वाले वीडियो नहीं देख पाएंगे। इस फीचर के तहत बच्चे रेगुलर YouTube जैसा ही लुत्फ उठा पाएंगे। हालांकि वे सेंसिटिव वीडियो नहीं देख पाएंगें। जैसे ही इस फीचर को इनेबल करेंगे तो इन-ऐप परचेज और कमेंट को भी डिसेबल कर दिया जाएगा।