सरकार 20 और Apps को कर सकती है भारत में बैन, पॉपुलर गेमिंग ऐप्स भी शामिल

|

Published: 11 Jul 2020, 06:05 PM IST

  • सरकार 20 ऐप की डेटा शेयरिंग पॉलिसी की समीक्षा कर रही है
  • आईटी मंत्रालय दे सकता है कई वेबसाइट्स और ऐप पर रोक लगाने का निर्देश

नई दिल्ली। भारत में 59 चीनी ऐप्स को बैन करने के बाद सरकार एक बार फिर 20 और ऐप्स पर पाबंदी लगा सकती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इन दिनों सरकार डेटा शेयरिंग पॉलिसी (data sharing policy) की समीक्षा कर रही है। ऐसे में जिन कंपनियों के सर्वर चीन से जुडे हैं उनपर रोक लगाया जा सकता है। इसके अलावा खबर है कि आईटी मंत्रालय कई वेबसाइट्स पर भी रोक लगा सकता है। बता दें इन 20 ऐप्स में कई पॉपुलर गेमिंग ऐप भी शामिल है।

बता दें कि सरकार ने इन ऐप्स पर बैन इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्शन 69ए के तहत लगाया है। सरकार ने ये कदम ऐसे समय पर उठाया है, जब लद्दाख की गलवान घाटी पर सीमा विवाद चल रहा है। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच पैदा हुए तनाव को लेकर भारतीयों में काफी आक्रोश है, जो अब चाइनीज प्रोडक्ट्स और ऐप्स पर निकाला जा रहा है। यही वजह है कि लोगों ने अब चीन के ऐप्स को डाउनलोड करना छोड़ दिया है और कोशिश कर रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा भारतीय या किसी अन्य देश के ऐप्स को डाउनलोड करके उसका इस्तेमाल करें। लोगो का मानना है कि चीनी ऐप्स लोगों के डेटा को लीक कर सकता है। इतना ही नहीं, ये ऐप्स आपको लाखों की चपत भी लगा सकते हैं।

Amazon का कर्मचारियों को आदेश, डिवाइस से करना होगा TikTok ऐप डिलीट

इसके अलावा भारतीय सेना के अधिकारियों और सैनिकों को फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत 89 सोशल मीडिया ऐप को अपने फोन से डिलीट करने के लिए कहा गया है। आदेश के मुताबिक सभी को इसे 15 जुलाई तक पूरा कर लेना है।

गौरतलब है कि गूगल प्ले स्टोर से अभी भी कुछ बैन ऐप्स के लाइट वर्जन डाउनलोड किए जा रहे हैं। दरअसल, किसी ऐप का लाइट वर्जन कम साइज का होता है और ये फोन की मैमोरी भी कम लेता है। साथ ही डाउनलोड के दौरान डेटा की खपत भी कम होती है। हालांकि ऐप में ज्यादा बदलाव नहीं होता है और इसमें मुख्य ऐप की तरह ही फीचर्स मिलेंगे। सरकार ने गूगल और एप्पल को इन ऐप्स को हटाने के निर्देश दिए थे। साथ ही, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स व टेलिकॉम ऑपरेटर्स को भी इन्हें ब्लॉक करने के लिए कहा था।