Play Store से हटाया गया यह एप, Apple ने भी दिया अल्टीमेटम, जानिए क्या है वजह

|

Published: 09 Jan 2021, 08:10 PM IST

  • रिपोर्ट के अनुसार, टेक दिग्गज ने पाया कि पार्लर ने अमरीका में हिंसा को भड़काने की मांग करने वाली पोस्ट को हटाने के लिए कड़ी कार्रवाई नहीं की थी।
  • एप्पल ने भी पार्लर को अपने ऐप को मॉडरेट करने या हटाने के लिए एक अल्टीमेटम दिया है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की सामूहिक लड़ाई में गूगल ने अपने प्ले स्टोर से कंजर्वेटिव्स और चरमपंथियों के सोशल मीडिया ऐप पार्लर को हटा दिया है। रिपोर्ट के अनुसार, टेक दिग्गज ने पाया कि पार्लर ने अमरीका में हिंसा को भड़काने की मांग करने वाली पोस्ट को हटाने के लिए कड़ी कार्रवाई नहीं की थी।

भड़काने वाली पोस्ट
गूगल ने पार्लर एप की पोस्ट को भड़काने वाला बताया। गूगल ने एक बयान में कहा कि हम पार्लर ऐप में लगातार हो रही पोस्ट्स के बारे में जानते हैं जो अमरीका में चल रही हिंसा को भड़काना चाहती हैं। सार्वजनिक सुरक्षा को खतरे में देखते हुए हम तत्काल प्ले स्टोर से एप की लिस्टिंग को रद्द कर रहे हैं, जब तक कि वह इन मुद्दों पर काम नहीं करता है।

एप्पल ने भी दिया अल्टीमेटम
पार्लर ने गूगल प्लेटफॉर्म द्वारा लगाए गए प्रतिबंध पर कोई टिप्पणी नहीं की है। वहीं एप्पल ने भी पार्लर को अपने ऐप को मॉडरेट करने या हटाने के लिए एक अल्टीमेटम दिया है। पार्लर के सीईओ जॉन मैटेज ने एप्पल की धमकियों का जवाब देते हुए कहा कि कंपनी प्रतिस्पर्धी विरोधियों के दबाव में नहीं आएगी। बता दें कि यह एप अभी भी एप्पल के ऐप स्टोर पर उपलब्ध है। बता दें कि पार्लर को फ्री स्पीच विकल्प के रूप में जाना जाता है। यह ऐसे पोस्ट करने की अनुमति देता है जिसमें साजिशों, धमकियों और अभद्र भाषा समेत अन्य चीजें शामिल हों।

यह भी पढ़ें-Mitron TV ने लॉन्च किया आत्मनिर्भर एप्स, स्वदेशी एप्स की कराएगा पहचान

ट्विटर ने लगाया प्रतिबंध
सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी ट्विटर ने भी डोनाल्ड ट्रंप द्वारा हिंसा भड़काने के जोखिम का हवाला देते हुए अपने प्लेटफॉर्म पर उन पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। ट्विटर ने यह प्रतिबंध ट्रंप समर्थकों द्वारा अमरीकी कैपिटल पर हमला करने के दो दिन बाद लगाया है। ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रंप के हैंडल में उनके द्वारा फॉलो किए गए अकाउंट्स की संख्या 51 और उनके 8.87 करोड़ फॉलोअर्स की संख्या नजर आ रही है। साथ ही स्क्रीन के केंद्र में दो शब्द अकाउंड सस्पेंडेड लिखे हुए हैं।

यह भी पढ़ें-अब Google का यह पॉपुलर एप नहीं मिलेगा फ्री, देना होगा चार्ज, जानें पूरी डिटेल

बताई वजह
ट्विटर ने एक बयान में कहा है, एट द रेट रियल डोनाल्ड ट्रंप अकाउंट से हाल ही में किए गए ट्वीट्स की करीबी समीक्षा करने और उनके संदर्भों को देखने के बाद हमने भविष्य में हिंसा को भड़काने के जोखिम को देखते हुए अकाउंट को स्थायी रूप से बंद कर दिया है।