कौन दे रहा इमरान खान को सलाह, विदेशी कर्ज चुकाने के लिए लिया और ज्यादा कर्जा

|

Published: 23 Feb 2021, 09:46 AM IST

Highlights.

- पाकिस्तान सरकार का दावा बीते ढाई साल में 20 अरब डॉलर की रिकॉर्ड विदेशी कर्ज अदायगी हुई
- वहां के बैंक ने जो आंकड़े जारी किए उसके मुताबिक कर्ज की राशि कम होने की जगह बढ़ गई
- विशेषज्ञों के मुताबिक, इमरान खान देश पर लदा कर्ज का बोझ हल्का करने की जगह और भारी कर रहे

 

नई दिल्ली।

पाकिस्तान ने सिर्फ ढाई साल में 20 अरब डॉलर का अपना कर्जा अदा कर दिया है। यह दावा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने किया है। हालांकि, इमरान खान का यह दावा चौंकाने वाला है, क्योंकि यह विदेशी कर्जों की अब तक रिकॉर्ड अदायगी है और यह इमरान खान की सरकार में हुआ है।

कर्ज से ही जुड़ी पाकिस्तान की एक हैरान करने वाली बात और, वह यह कि वहां सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ यानी पीटीआई ने अपने बीते ढाई साल की सरकार में देश का कुल विदेशी कर्ज अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। यानी इमरान खान ने पुराना कर्ज चुकाने के लिए और ज्यादा भारी-भरकम ब्याज पर नया कर्ज लिया है। विशेषज्ञों की मानें तो इमरान ने देश पर लदा कर्ज का बोझ हल्का करने के बजाय और बढ़ा दिया है।

बैंक ने जारी किए हैं आंकड़े
पहले हम आपको बताते हैं कि पाकिस्तान पर कर्ज कितना है। वहां के सबसे बड़े बैंक स्टेेट बैंक ऑफ पाकिस्तान की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, 31 दिसंबर 2020 तक देश का कुल कर्जा 115.756 अरब डॉलर था। जी हां, आपने सही पढ़ा। पाकिस्तान पर कर्जा 115 अरब डॉलर से भी ज्यादा है। इस आंकड़े के ठीक एक साल पहले यानी 31 दिसंबर यानी 2019 तक कर्ज कुल राशि 110.719 अरब डॉलर थी। यानी एक साल में पाकिस्तान के कर्ज में करीब 5 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हो गई।

अब सफाई देने में जुटे हैं अधिकारी
किरकिरी होने के बाद अब पाकिस्तानी अधिकारी सफाई देने में जुटे हैं। उनका कहना है कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने जो आंकड़े जारी किए हैं, वह देश के कुल कर्ज का आंकड़ा है। इस कर्जे में इमरान सरकार की ओर से लिए गए कर्ज के साथ-साथ सरकारी स्वामित्व में चलने वाली संस्थाओं ने जो कर्ज लिया और देश के निर्जी क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों की ओर से विदेशों से लिए कर्ज भी शामिल हैं। इसलिए यह राशि न सिर्फ पाकिस्तान सरकार पर बल्कि, पूरे देश पर बकाया है। अधिकारियों की मानें तो, विदेश से कर्ज लिया गया सरकारी ऋण करीब 80 डॉलर है। मौजूदा सरकार ने अपनी ढाई साल की सरकार में 20 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज चुकाया है।

पिछली सरकारों से तुलना
अधिकारियों के मुताबिक, इससे पहले यानी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के पहले ढाई साल की सरकार से तुलना करें तब यह कर्ज अदायगी करीब 9 अरब डॉलर था। वहीं, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने अपनी सरकार के पहले ढाई साल में करीब साढ़े छह अरब डॉलर का कर्ज चुकाया था।