UN रिपोर्ट में खुलासा, कोरोना महामारी को लेकर गलत सूचना फैला रहे आतंकी संगठन

|

Published: 19 Nov 2020, 04:25 PM IST

Highlights

  • आतंकी संगठनों का कहना है कि वायरस 'काफिरों को सजा दे' रहा है।
  • ये लोगों को जैविक हथियार बनने के लिए भड़का रहे हैं।

वाशिंगटन। आतंकियों को कोविड-19 के रूप एक नया हथियार मिल गया है। अलकायदा और आईएसआईएस के आतंकी इस महामारी को लेकर साजिश और मनगढ़त कहानियां गढ़ रहे हैं। उनका कहना है कि वायरस 'काफिरों को सजा दे' रहा है और यह पश्चिम पर 'खुदा का बड़ा कहर' है।

यूएई ने दिया पाकिस्तान को बड़ा झटका, वीजा जारी करने पर लगाई रोक

ये आतंकी संगठन इसका इस्तेमाल जैविक हथियार का उपयोग करने के रूप में करने के लिए भड़का रहे हैं। यह बात संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के दौरान आतंकवादियों, हिंसक चरमपंथियों और आपराधिक समूहों द्वारा सोशल मीडिया पर गलत सूचना का प्रसार हो रहा है। इसे 'संयुक्त राष्ट्र अंतरक्षेत्रीय अपराध एवं न्याय अनुसंधान संस्थान'(UNICRI) ने बुधवार को जारी किया।

रिपोर्ट के अनुसार,अपराधी और हिंसक चरमपंथी महामारी का इस्तेमाल नेटवर्क तैयार करने और सरकारों में लोगों के विश्वास को कमजोर करने के लिए कर रहे हैं और वे वायरस को हथियार बनाने की बातें कर रहे हैं।

साथ ही रिपोर्ट में कहा गया है कि आतंकवादी, हिंसक अतिवादी और संगठित आपराधिक समूहों ने कोरोना वायरस को लेकर साजिश की मनगढ़ंत कहानियां फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया है।