UN प्रमुख ने जी-20 देशों के रवैये पर जताई निराशा, कहा- महामारी के खिलाफ दिखाए एकजुटता

|

Updated: 24 Oct 2020, 01:11 AM IST

Highlights

  • एंटोनियो गुटेरेस ने कहा, 20 प्रमुख औद्योगिक देशों के नेताओं का मार्च में एक साथ न आना दुखद।
  • कहा, कई बार उनके द्वारा लिए गए फैसले विरोधाभासी भी रहे हैं।

वाशिंगटन। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ प्रमुख देशों की एकजुटता न दिखाने पर अफसोस व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि 20 प्रमुख औद्योगिक देशों के नेताओं का मार्च में एक साथ न आना और कोरोना महामारी के खिलाफ मिलकर कार्रवाई न करना बेहद निराशाजनक है।

Vladimir Putin: आर्मीनिया-अजरबैजान की जंग में अब तक में मारे गए पांच हजार लोग

उन्होंने कहा कि हमने जी-20 देशों से इस महामारी के खिलाफ एक साथ आने का प्रस्ताव दिया था। मगर ऐसा नहीं हो पाया। यूएन के प्रस्ताव की अनदेखी कर सभी देश अपने फैसले खुद लेते रहे। इस दौरान कई बार उनके द्वारा लिए गए फैसले विरोधाभासी भी रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इन सभी देशों के एक साथ न आने से वायरस का प्रकोप पूर्व से पश्चिम, उत्तर से दक्षिण में लगातार फैलता जा रहा है। अब तो संक्रमण की दूसरी लहर कई देशों को प्रभावित करती जा रही है।

Turkey: अमरीकी दूतावास पर आतंकी हमले का खतरा, हाई अलर्ट जारी

गुटेरेस ने उम्मीद जताते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय इस बात को समझेगा कि उन्हें अब साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान संयुक्त राष्ट्र सभी देशों से अपील करेगा कि कोविड-19 का टीका जब भी आएगा, यह सभी जगहों पर उचित कीमत पर मिल सकेगा।