शोध में खुलासा: Coronavirus के संक्रमण से बाहर निकलने के महीनों बाद भी पाए गए लक्षण

|

Updated: 14 Oct 2020, 12:18 AM IST

Highlights

  • विशेषज्ञों का कहना है उनके लिए अनुमान लगाना कठिन है कि मरीज कब तक ठीक होगा।
  • संक्रमित होने के दो माह बाद भी थकान व सांस संबंधी परेशानी के लक्षण दिखाई दिए।

रोम। कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के बाद मरीजों में कई सप्ताह और माह तक इसके लक्षण दिखाई देते हैं। विशेषज्ञों का कहना है उनके लिए अनुमान लगाना कठिन है कि मरीज कितने दिनों बाद पूरी तरह से स्वस्थ महसूस करेंगे।

Libya: बंधक बनाए गए सातों भारतीय रिहा, आतंकियों ने पिछले महीने किया था किडनैप

जिन मरीजों में संक्रमण के मामूली लक्षण हैं,वे जल्द ही इस बीमारी से उबर जाते हैं। वहीं बुजुर्ग और गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों को पूरी तरह से ठीक होने में तीन से चार माह भी लग जाते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार अमूमन मरीज को दो सप्ताह से छह सप्ताह लग जाता है स्वस्थ होने में। अमरीका के एक अध्ययन में सामने आया है कि मामूली लक्षण वाले जिन मरीजों को अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया,उनमें से 20 फीसदी लोग ऐसे थे, जिनमें संक्रमण होने के कम से कम दो सप्ताह बाद बीमारी के लक्षण दिखाई दिए थे।

इटली में एक अध्ययन के अनुसार, अस्पताल में भर्ती मरीजों में 87 फीसदी लोग संक्रमित होने के दो माह बाद भी थकान व सांस संबंधी परेशानी के लक्षण दिखाई दिए। शिकागो में फेफड़ों संबंधी बीमारियों के विशेषज्ञ डॉ.खालिलाह गेट्स का कहना है कि उनके कई मरीजों में संक्रमित होने के चार माह बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखाइ दिए हैं।

ब्रिटेन: पीएम Boris Johnson ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए बनाई योजना

गेट्स ने कहा कि यह बताना कठिन है कि कोई मरीज पूरी तरह स्वस्थ कब महसूस करेगा। संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ.जय वार्के का कहना है कि ऐसा अकसर देखने को मिला है कि भले लोग गंभीर बीमारी से उबर चुके हों, लेकिन जरूरी नहीं कि वे पूरी तरह स्वस्थ हो गए हों।