दक्षिण अफ्रीका सीरम इंस्टीट्यूट को 10 लाख वैक्सीन डोज करेगा वापस! स्वास्थ्य मंत्री ने दी सफाई

|

Updated: 17 Feb 2021, 11:04 PM IST

HIGHLIGHTS

  • मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि दक्षिण अफ्रीका सीरम इंस्टीट्यूट के कोवीशील्ड वैक्सीन को वापस करेगा।
  • दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. ज्वेलि मखिजे ( Dr. Zweli Mkhize ) ने वैक्सीन वापस करने वाली खबरों का खंडन किया है।

जोहानसबर्ग। कोरोना महामारी से जूझ रही पूरी दुनिया को बेसब्री के साथ कोरोना वैक्सीन मिलने का इंतजार है, लेकिन कई देशों में टीकाकरण अभियान की शुरूआत हो चुकी है और इसके कारण कोरोना महामारी से बचाव की उम्मीदें काफी बढ़ गई है।

भारत में अब तक लाखों लोगों का कोरोना टीकाकरण किया जा चुका है। भारत में दो स्वदेशी कोरोना वैक्सीन (कोवीशील्ड और कोवैक्सीन) को मंजूरी दी गई है। भारत कई देशों को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध भी करा रहा है। इस बीच कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि दक्षिण अफ्रीका सीरम इंस्टीट्यूट के कोवीशील्ड वैक्सीन को वापस करेगा।

सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना हुई Corona Vaccine की पहली खेप, पुलिस सुरक्षा के बीच देश के 13 स्थानों पर पहुंचेगी Covishield

रिपोर्ट्स के अनुसार, दक्षिण अफ्रीका ने सीरम इंस्टीट्यूट से कहा है कि वह एस्ट्राजेनेका कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज वापस ले ले। हालांकि, इसको लेकर अब दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री ने सफाई दी है।

मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. ज्वेलि मखिजे ( Dr. Zweli Mkhize ) ने वैक्सीन वापस करने वाली खबरों का खंडन करते हुए कहा कि हमारा देश सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को वैक्सीन वापस नहीं करेगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने किया खंडन

बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया जा रहा था कि दक्षिण अफ्रीका सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से भेजी गई कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज वापस लौटाना चाहता है। इस खबर का खंडन करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने संसद में जानकारी देते हुए कहा कि हमने एस्ट्राजेनेक की कोविड वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को लौटाने के लिए बिल्कुल भी नहीं कहा है। हम वैक्सीन भारतीय कंपनी को नहीं लौटाएंगे।

फ्रंटलाइन वर्कर्स को बचाने के लिए नई पहल, नगर निगम ने लगाया कोरोना टीकाकरण कैंप

संसद में बयान देते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉ. ज्वेली मखिजे ने कहा, 'मैं कुछ मीडिया रिपोर्टों का खंडन करना चाहूंगा, जिसमें दावा किया गया है कि हम भारत को कोरोना वायरस के टीके लौटा रहे हैं। हम एस्ट्राजेनेका के टीके भारत को नहीं लौटा रहे हैं। हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है। हमने एस्ट्राजेनेका से जो वैक्सीन की डोज खरीदी थी, वो अफ्रीकी संघ (AU) को दी जा चुकी हैं, जिसका हम भी हिस्सा हैं। AU यह वैक्सीन डोज उन देशों को वितरित करेगा, जिन्होंने पहले ही स्टॉक हासिल करने में रुचि व्यक्त की है।'

सीरम इंस्टिट्यूट ने भेजीं 10 लाख डोज

आपको बता दें कि भारत ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ऑक्फोर्ड-एस्ट्राजेनका की वैक्सीन का प्रोडक्शन कर रहा है। भारत ने दक्षिण अफ्रीका को वैक्सीन उपलब्ध कराया है। पिछले हफ्ते ही दक्षिण अफ्रीका में सीरम की वैक्सीन की 10 लाख डोज की पहली खेप पहुंची थी। जबकि पांच लाख डोज अगले कुछ हफ्तों में वहां पहुंचने वाली है।