Joe Biden के राष्ट्रपति चुने जाने पर विवाद, रूस ने मान्यता देने से किया इनकार

|

Updated: 23 Nov 2020, 06:53 PM IST

  • जो बाइडन (Joe Biden ) को अमेरिका का राष्ट्रपति नहीं मान सकते : पुतिन
  • पुतिन बाइडेन अलावा किसी दूसरे अमरीकी नेता के साथ काम करने के लिए रजामंद

नई दिल्ली। अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ( US newly elected President Joe Biden ) को लेकर जहां डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) मोर्चा खोले हुए हैं, वहीं यह विवाद अब दुनिया के दूसरे ताकतवर देशों तक भी जा पहुंचा है। इसी का नतीजा है कि रूस ने जो बाइडेन को अमरीका के राष्ट्रपति ( US President ) के रूप में मान्यता देने से साफ इनकार कर दिया है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ( Russian President Vladimir Putin )ने रविवार को कहा कि वह अभी भी संयुक्त राज्य अमरीका के राष्ट्रपति चुनाव ( United States presidential election ) के विजेता के रूप में जो बाइडन को मान्यता देने के लिए तैयार नहीं हैं। हालांकि उन्होंने बाइडेन के अलावा किसी दूसरे अमरीकी नेता के साथ काम करने के लिए रजामंदी जताई। रूसी स्टेट टीवी पर बोल रहे पुतिन ने आगे कहा कि हम केवल ऐसे लोगों के साथ ही काम करने को तैयार हैं, जिन पर अमरीका के लोग भरोसा करते हैं।

जम्मू-कश्मीर: BSF ने खोज निकाला नगरोटा में सुरंग का पता, घुसपैठ के लिए होता था इस्तेमाल

बाइडन को बधाई नहीं देने का निर्णय एक औपचारिकता

रूसी राष्ट्रपति यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि यह विश्वास केवल ऐसे उम्मीदवार पर किया जा सकता है, जिसकी जीत को विरोधी दल द्वारा मान्यता दी गई हो, या परिणामों की पुष्टि वैध, कानूनी तरीके से होती है। पुतीन ने यह भी कहा कि बाइडन को बधाई नहीं देने का निर्णय एक औपचारिकता है, जिसके पीछे कोई गलत उद्देश्य नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि उनका मानना है कि अमेरिका और रूस के बीच संबंध 'खराब' हो गए हैं। आपको बता दें कि अमरीका में 3 नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनावों में अमेरिकन्स ने डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन को चुना है। बाइडेन ने 306 इलेक्ट्रोल हासिल किए हैं, जबकि उनके प्रतिद्वंदी और रिपब्लिक कैंडिडेट डोनाल्ड ट्रंप को केवल 232 वोट ही मिल सके हैं।

बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं आने वाले 15 दिन, Experts ने बताया बचाव का तरीका

बाइडेन 20 जनवरी को अमरीका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगे

बावजूद इसके डोनाल्ड ट्रंप अपनी हार मानने को तैयार नहीं हैं। इसके साथ ही ट्रंप ने कई राज्यों में मतगणनना प्रक्रिया में गड़बड़ी के आरोप लगाकर वाद भी दायर किए हैं। आपको बता दें कि जो बाइडेन 20 जनवरी को अमरीका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगे। चूंकि बाइडेन ने अपने चुनावी अभियान के दौरान चीन के खिलाफ काफी उत्तेजक बयान दिए थे। ऐसे में माना जा रहा है कि अमरीका का पलड़ा भारत की ओर से झुका रहेगा।