Video: जल्लीकट्टू खिलाडियों के लिए अब आधार अनिवार्य!

|

Published: 12 Jan 2018, 10:24 AM IST

खिलाडिय़ों को पराक्रम दिखाने का मौका मिलेगा जिनके पास आधार नम्बर है।

नई दिल्ली। पिछले साल जल्लीकट्टू के आयोजन को लेकर हुए आंदोलन के बाद इस वर्ष परम्परागत खेल की चर्चा विश्वभर में हुई। इस बार सरकार इस खेल को पूरी सुरक्षा व्यवस्था और नियम-कायदे के साथ कराने को तत्पर है। जल्लीकट्टू अधिकतर मदुरै समेत दक्षिणी जिलों में आयोजित होता है। पोंगल के बाद बैलों व सांडों को नियंत्रित करने का यह खेल परवान चढने लगा है। जिला स्तर पर इसकी तैयारियों के तहत खिलाडिय़ों का रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है। लेकिन उन्हीं खिलाडिय़ों को पराक्रम दिखाने का मौका मिलेगा जिनके पास आधार नम्बर है। अवनियापुरम में जल्लीकट्टू में रुचि रखने वाले प्रत्याशियों से आधार नम्बर मांगा जा रहा है। इससे खिलाडियों में निराशा है। पोंगल के बाद होने वाले जल्लीकट्टू को लेकर हालांकि यहां खासा उत्साह दिखाई दिया। ग्राम सेवक कार्यालय में पंजीयन को लेकर व्यापक व्यवस्था की गई थी। अलसुबह से ही बैल मालिकों के अलावा खिलाडिय़ों की लम्बी कतार लगना शुरू हो गई।