रहस्यमयी इस पुल ने उतारा सैकड़ों को मौत के घाट, कारण से लोग आज भी है अंजान

|

Published: 06 Jan 2018, 11:15 AM IST

कुछ लोगों का ऐसा भी मानना है कि इस पुल पर बुरी शक्तियों का साया है।

नई दिल्ली। दुनियाभर में हमने कई सुईसाइड पांइट के बारे में सुना है और कभी-कभी टूरिस्ट पॉइन्ट में तब्दील हो चुके इन जगहों को अपनी आंखों से देखा भी है लेकिन सामान्य रूप से ये सभी सुईसाइड पाइंट इंसानों के लिए बने हुए है। लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया में एक ऐसा भी स्थान है जो कि कुत्तों के लिए खतरनाक माना जाता है। इससे भी ज्यादा हैरान करने वाली बात तो ये है कि इस जगह पर कुत्तें जाने मात्र से ही अपनी जान दे देते हैं। जी हां ये एक पुल है जो कि स्कॉटलैंड के डंबार्टन के समीप स्थित मिल्टन नाम के एक गांव में है।

ये पुल कुत्तों को आत्महत्या करने के लिए अपनी ओर आकर्षित करता है। इसका नाम ओवरटोन ब्रिज है। इस ब्रिज का निर्माण 1859 में हुआ और 1950 से 1960 के बीच यह पहली बार नोटिस किया गया कि इससे कुत्ते कूंदकर अपनी जान दे देते हैं। अब तक करीब 600 कुत्तों ने इस पुल से कूंदकर अपनह जान दे दी है। इस पुल पर कुत्ते बिना किसी वजह के अपनी जान दे देते हैं। करीब 50 फीट की ऊंचाई से गिरने के बाद ये जिंदा नहीं बच पाते और अगर गलती से बच गए तो वे दोबारा उसी पुल से कूंदकर अपनी जान दे देते हैं।

कुत्तों के लगातार इस कदर आत्महत्या करने के बाद पुल पर चेतावनी बोर्ड लगा दिया गया है। अब तक यहां पर जितने भी कुत्तों की मौत हुई है वो सभी रहस्यमयी ढ़ंग से हुई है। लोगों के बीच आज भी इस बात का कोई जवाब नहीं है कि आखिरकार ऐसा क्या है इस पुल में जो ये पालतू जानवर यहां आकर अपनी जान से हाथ धो बैठते है। कुछ लोगों का ऐसा भी मानना है कि इस पुल पर बुरी शक्तियों का साया है।

वहीं कुछ ऐसा कहते हैं कि साल 1994 में एक आदमी ने इस पुल से अपने बच्चे को नींचे फेंक दिया था और इसका कारण ये था कि वो बच्चा एंटी क्राइस्ट था। इसके कुछ समय के बाद उस व्यक्ति ने भी पुल से कूंदकर अपनी जान दे दी। एक थ्योरी के अनुसार ये माना गया है कि ये पुल एक ऐसी जगह है जहां पर मृत और जीवित लोगों की दुनिया मिलती है और यहां पर अनोखी शक्तियां क्रॉस होती है। बेजुबान ये जानवर उन शक्तियों को अच्छे से समझ लेते हैं जिसके चलते ये ऐसा कर बैठते हैं।