म्यांमार: हिंसा पर उतारू सेना, लोगों पर सरेआम बरसाई ताबड़तोड़ गोलियां, सैकड़ों गिरफ्तार

|

Published: 28 Feb 2021, 06:30 PM IST

  • म्यांमा में पुलिस ने बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया
  • तख्तापलट के विरोध में हो रहे विरोध प्रदर्शनों को समाप्त कराने की कोशिश
  • राजधानी में सेना ने लोगों पर आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछारें कीं

यंगून: म्यांमार में आंग सान सू ची की चुनी हुई सरकार का तख्तापलट के बाद के आम लोगों में सेना के प्रति भारी आक्रोश है। हजारों की संख्या में लोग आंग सान सू की की निर्वाचित सरकार को सत्ता सौंपने की मांग कर रहे हैं।वहीं बदले में सुरक्षा बल इन पर सरेआम ताबड़तोड़ गोलियां बरसा रही है। बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है।

MRI स्कैन तकनीक विकसित करने वाले ब्रिटिश भौतिक विज्ञानी प्रो. जॉन मल्लार्ड का निधन

जानकारी के अनुसार सेनी विरोध प्रदर्शनों को समाप्त कराने के लिए राजधानी में आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछारें कर रही है। जबकि पुलिस प्रदर्शनकारियों को सड़कों से उठाने के लिए म्यांमार के सबसे बड़े शहर यंगून में गोलियां दाग रही है। पुलिस फायरिंग में कम से कम सात लोगों के मारे जाने और कई लोगों के घायल हने की खबर है। इसके अलावा सेना ने मोबाइल इंटरनेट सेवा को पूरी तरह से बंद कर दिया है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक यंगून में कई जगहों पर भारी मात्र में गोलियों के खोखे दिखाई दे रहे हैं।इसके अलावा दक्षिणपूर्वी म्यांमार के छोटे से शहर दावेई में भी सुरक्षा बलों ने हिंसक कार्रवाई की खबर सामने आ रही है।

स्थानीय मीडिया की खबर के अनुसार मेडिकल के छात्र राजधानी की सड़कों पर मार्च निकाल रहे थे। इन्हें रोकने के लिए पुलिस और सेना हिंसा करने लगी। इस घटना के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहे हैं। जिसमें प्रदर्शनकारी पुलिस की सख्ती से भागते दिख रहे हैं ।

Haiti: 400 से अधिक कैदी जेल तोड़कर भागे, हिंसक झड़प में 25 कैदियों की मौत

बता दें तख्तापलट के बाद से अबतक 854 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।इन सभी लोगों पर तख्तापलट से जुड़ी धाराओं के तहत केस दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा 771 लोगों को हिरासत में रखा गया है