भारत से बचने के लिए Vijay Mallya का नया पैंतरा, जानिए क्या उठाया कदम

|

Published: 23 Jan 2021, 10:53 AM IST

  • शराब कारोबारी Vijay Mallya ने फिर चली भारत से बचने की चाल
  • अब गृहमंत्री प्रीति पटेल से किया आवेदन
  • कुछ और वक्त भारत आने से बच गया माल्या

नई दिल्ली। शराब शराब कारोबारी विजय माल्या ( Vijay Mallya ) लगातार भारत से बचने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रहा है। इसी कड़ी में एक बार फिर विजय माल्या ने अपनी एक और चाल चली है। लंदन में रुकने के लिए शराब कारोबारी ने बड़ा कदम उठाया है। विजय माल्या ने लंदन के गृहमंत्री प्रीति पटेल को इस संबंध में आवेदन दिया है।

आपको बता दें कि माल्या के वकील ने दिवाला कानून की कार्यावाही में उसे लंदन के हाईकोर्ट में वर्चुअल मोड में पेश किया था।

जो बिडेन के शपथ ग्रहण समारोह में कोरोना का अटैक, नेशनल गार्ड के 200 जवान हुए पॉजिटिव

शराब कारोबारी विजय माल्या ने ब्रिटेन में ही रहने के लिए एक और विकल्प आजमाते हुए गृह मंत्री प्रीति पटेल के समक्ष गुहार लगाई है।

लंदन हाईकोर्ट में चल रहे दीवालिया मामले में शराब कारोबारी माल्या का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील ने शुक्रवार को अदालत में इसकी जानकारी दी।

आपको बता दें कि विजय माल्या फिलहाल तब तक जमानत पर है जब तक पटेल उसे भारत प्रत्यर्पित करने के आदेश पर हस्ताक्षर नहीं कर देतीं।

ब्रिटेन की सुप्रीम कोर्ट ने माल्या को भारत सरकार को प्रत्यर्पित करने के खिलाफ दायर याचिका को पिछले साल अक्टूबर में खारिज कर दिया था।

दरअसल ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने इस संबंध में सिर्फ इस बात की पुष्टि की है कि प्रत्यर्पण आदेश पर अमल किये जाने से पहले कुछ गोपनीय कानूनी प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में उनके इस कदम से ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि माल्या ने ब्रिटेन में शरण मांगी थी।

बहरहाल माल्या पर अब बंद हो चुकी उसकी कंपनी किंगफिशर एयलाइंस के संबंध में धोखाधड़ी और धनशोधन के आरोप हैं।

एक बार फिर बढ़ेगा हाड़ कंपा देने वाली ठंड, देश के इन राज्यों में मौसम विभाग ने जारी किया सबसे बड़ा अलर्ट

माल्या के बैरिस्टर फिलिप मार्शल ने अदालत में कहा कि प्रत्यर्पण की प्रक्रिया बरकरार है लेकिन माल्या अभी इसलिए यहां हैं क्योंकि उन्होंने यहां रहने के लिये एक और विकल्प आजमाते हुए गृह मंत्री प्रीति पटेल से गुहार लगाई है।

अब माल्या के प्रत्यर्पण पर प्रीति पटेल ही मुहर का इंतजार है। वहीं कानूनी विशेषज्ञों के अनुसार उन्हें वहां शरण मिलेगी या नहीं ये इस बात पर निर्भर करेगा कि माल्या ने प्रत्यर्पण अनुरोध से पहले शरण के लिए आवेदन किया या नहीं।