छोटे कपड़े पहनने पर महिला पत्रकार को संसद से बाहर निकाला, देश भर में बवाल

|

Published: 05 Dec 2018, 10:35 AM IST

पत्रकार को अनुचित कपड़े पहनने के लिए के लिए संसद से बाहर निकाल दिया गया

केनबरा। एक महिला पत्रकार को संसद भवन में अशोभनीय कपड़े पहनने के जुर्म में बाहर निकाल दिया गया । छोटी आस्तीन वाले कपड़े पहने पत्रकार को 'अनुचित कपड़ों' के लिए संसद से बाहर निकाल दिया गया। इस तथ्य के बावजूद महिला सांसदों ने कक्ष में अधिक खुले कपड़े पहने थे, महिला पत्रकार को सदन के बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। इस घटना के वायरल होने के बाद देश भर में हड़कंप मच गया है।

छोटे कपड़े पहनने की सजा

मामला ऑस्ट्रेलिया का है। एबीसी पत्रकार को बहुत ज्यादा स्किन शो के लिए संसद से बाहर निकाल दिया गया। पेट्रीसिया करवेलस नाम की महिला पत्रकार ने इस घटना के बारे में ट्वीट किया और इस बात पर क्षोभ जताया कि उन्हें बाहर निकाल दिया गया। इस मामले की जांच के लिए स्पीकर टोनी स्मिथ ने एक अधिकारी को नियुक्त किया गया है। बताया जा रहा है कि पत्रकार पिछले हफ्ते एक बिना आस्तीन की पोशाक पहने हुई थीं। उनके इस ड्रेस को संसद की गरिमा के विरुद्ध माना गया उन्हें बाहर निकाल दिया गया। महिला पत्रकार पर आरोप लगाया गया कि उसके कपड़े बहुत उत्तेजक थे और वह सदन में बैठे सांसदों का ध्यान भंग करने वाले थे।

संसद की चौतरफा आलोचना

महिला पत्रकार पेट्रीसिया करवेलस ने घटना के बारे में ट्वीट किया और कहा कि उन्हें कैनबरा स्थित संसद में प्रश्न काल छोड़ने के लिए कहा गया था। उन्होंने लिखा अभी-अभी मुझे संसद से बाहर निकाल दिया गया है क्योंकि उन लोगों का कहना है कि मेरी स्किन बहुत ज़्यादा दिख रही है। पत्रकार ने अपनी सफाई में कहा कि मैंने विनम्रतापूर्वक यह समझाने की कोशिश की कि केवल इस ड्रेस की आस्तीन छोटी है। लेकिन किसी ने मेरी बात नहीं सुनी। इस मामले के मीडिया में उछलने के बाद सदन और सरकार की चौतरफा आलोचना शुरू हो गई। लोगों ने आरोप लगाया है कि पिछले हफ्ते पूर्व विदेश मंत्री जूली बिशप ने बिना बांह की गुलाबी आस्तीन पोशाक में संसद में पहनी, फिर उन्होंने क्यों नहीं निकला गया। इस बारे में ऑट्रेलिया के संसद सचिव का कहना है कि संसद, सदन, और गैलरी सभी एक निश्चित ड्रेस कोड का पालन करते हैं। अतीत में पुरुष पत्रकारों को एक सूट जैकेट पहनने के लिए प्रेस गैलरी छोड़ने के लिए कहा गया था।