फाइजर वैक्सीन से इजरायल में कुछ ही दिनों में 50% तक कम हो गया संक्रमण का खतरा

|

Published: 13 Jan 2021, 11:32 PM IST

इजरायल में अबतक 10 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। जो आबादी का लगभग दसवां हिस्सा है

 

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना के खिलाफ जंग जारी है। कई देशों में कोराना के खिलाफ टीकाकरण भी शुरू हो चुका है। इसमें से एक इजरायल भी है। हाल ही में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने कहा था कि इजरायल कोरोना महामारी को हराने वाला दुनिया का पहला देश बनेगा।

बेंगलूरु पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप, दूसरी आज पहुंचेगी बेलगावी

इस बीच इजरायल स्वास्थ्य मंत्रालय के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख के तौर पर काम कर रहे शेरोन अलोय-प्रीस ने दावा किया है कि देश में फाइजर वैक्सीन के दो में से एक डोज देने के 14 दिनों के बाद 50 प्रतिशत तक संक्रमण का खतरा कम हो गया है। उन्होंने बताया कि ये शुरुआती आंकड़े हैं। आने वाले दिनों में संक्रमण का खतरा और कम हो जाएगा।

शेरोन ने बताया कि ये आंकड़ा वैक्सीन लेने और न लेने वालों के बीच कोरोना वायरस टेस्ट से निकाला गया है।उन्होंने आगे कहा, इजरायल में अबतक 10 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। जो आबादी का लगभग दसवां हिस्सा है और अगले सप्ताह लाखों और खुराकों की डिलीवरी होने वाली है।

देश के इस राज्य में गर्भवती महिलाओं और बच्चों को नहीं लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन, जानिए वजह

उन्होंने कहा कि प्रदाता क्लैट सर्वे के मुताबिक, वैक्सीन लगने के 14 दिन बाद किसी व्यक्ति को कोरोनवायरस से संक्रमित होने का मौका 33% तक हो जाता है। इसके अलावा स्वास्थ्य प्रदाता मैकाबी के आंकड़ों की माने तो वैक्सीन लेने के 14 दिनों बाद संक्रमण की संभावना में 60% की कम हो गई। हालांकि ये अंतर इतना ज्यादा क्यों है इसके लिए भी रिसर्च हो रही है।