इंडोनेशिया: 53 लोगों के साथ डूबी लापता होने वाली पनडुब्बी, खोज में जुटे थे भारत समेत कई देश

|

Updated: 24 Apr 2021, 06:56 PM IST

इंडोनेशिया के अधिकारियों ने जानकारी दी है कि नौसेना की लापता होने वाली पनडुब्बी डूब गई है

नई दिल्ली। इंडोनेशिया के अधिकारियों ने जानकारी दी है कि नौसेना की लापता होने वाली पनडुब्बी डूब गई है। इस पनडुब्बी में 53 लोग सवार थे। अधिकारियों ने बताया कि पनडुब्बी का मलबा भी बरामद कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि पनडुब्बी में शनिवार सुबह तक की ऑक्सीजन शेष थी, जो अब समाप्त हो गई होगी। इसके साथ ही पनडुब्बी में सवार 53 लोगों के बचने की संभावना भी तकरीबन समाप्त हो गई है। एयर मार्शन ताहजांतो ने जानकारी देते हुए बताया कि पनडुब्बी का जो मलबा मिला है, उसमें लूब्रीकैंट की बोतल और डिवाइस शामिल है।

अब सऊदी अरब में छात्र पढ़ेंगे रामायण-महाभारत, पाठ्यक्रम में बदलाव की बताई यह वजह

सामान पनडुब्बी की अंतिम लोकेशन से बरामद हुआ

ताहजांतो ने बताया कि ये सामान पनडुब्बी की अंतिम लोकेशन से बरामद हुआ है। यह सामान पनडुब्बी से उस समय तक बाहर नहीं निकल सकता, जब तक उस पर कोई बड़ा दबाव न बनाया जाए। आपको बता दें कि केआरआई नानग्गला 402 इंडोनेशिया की उन पांच पनडुब्बियों में से एक है, जिसका बुधवार को संपर्क टूट गया था। केआरआई बाली सागर में टारपिडो अभ्यास के समय अचानक लापता हो गई थी। उधर, नौसेना प्रमुख यूडो मारगोनो ने भी इस बात की पुष्टि की कि बचाव कार्य में जुटे लोगों को कई तरह का सामान बरामद हुआ है।

पश्चिम बंगाल का बैन: इन राज्यों से आने वाले यात्रियों को दिखानी होगी नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट

पनडुब्बी अपनी क्षमता को पार करते हुए 850 मीटर तक गहराई तक चली गई

आपको बता दें कि इससे पहले इंडोनेशिया ने इससे पहले पनडुब्बी के लापता होने की बात कही थी, लेकिन अब अधिकारिक तौर पर उसके डूबने की बात कही गई है। मारगोरो ने बताया कि स्कैनिंग के बाद यह पता चला है कि पनडुब्बी अपनी क्षमता को पार करते हुए 850 मीटर तक गहराई तक चली गई थी। जबकि इन पनडुब्बियों को केवल 500 मीटर तक की गहराइयों के लिए ही डिजाइन किया गया है।