हांगकांग के लोगों को ब्रिटेन में रहने और काम करने की मिली अनुमति, रविवार से नई Visa स्कीम लागू

|

Updated: 31 Jan 2021, 07:44 PM IST

HIGHLIGHTS

  • ब्रिटेन ने हांगकांग में रहने वाले लोगों के लिए नई वीजा व्यवस्था ( Visa Scheme ) लागू की है जो कि आज (रविवार, 31/01/2021) से प्रभावी हो गया है।
  • ब्रिटिश नेशनल (ओवरसीज) पासपोर्ट रखने वाले लोग और उनके आश्रित युनाइटेड किंगडम में रहने और काम करने की अनुमति देने वाले वीजा के लिए ऑनलाइन एप्लाई कर सकते हैं।

ब्रिटेन। हांगकांग ( Hong Kong ) पर पूर्ण रूप से कब्जा जमाने की कोशिश में जुटे चीन को ब्रिटेन ने एक बड़ा झटका दिया है। ब्रिटेन ने हांगकांग में रहने वाले लोगों के लिए नई वीजा व्यवस्था ( Visa Scheme ) लागू की है जो कि आज (रविवार, 31/01/2021) से प्रभावी हो गया है।

इसके तहत अब हांगकांग के लोग ब्रिटेन में आसानी से रह और काम कर सकते हैं। इस नई व्यवस्था से लाखों लोगों को ब्रिटिश नागरिकता ( British Citizenship ) लेने का रास्ता भी खुलेगा। ब्रिटिश नेशनल (ओवरसीज) पासपोर्ट रखने वाले लोग और उनके आश्रित युनाइटेड किंगडम में रहने और काम करने की अनुमति देने वाले वीजा के लिए ऑनलाइन एप्लाई कर सकते हैं। इसके पश्चात पांच साल बाद कोई भी ब्रिटिश नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है।

Germany ने Hong Kong के साथ प्रत्यर्पण संधि किया निलंबित, China ने बताया घरेलू मामलों में हस्तक्षेप

आपको बता दें कि 2019 में चीन द्वारा गैरकानूनी तरीके से राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को हांगकांग में लागू किया था, जिसको लेकर ब्रिटेन ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी और हांगकांग में रहने वाले लोगों को ब्रिटेन में आकर रहने की बात कही थी।

चीन ने जताई नाराजगी

आपको बता दें कि ब्रिटेन द्वारा हांगकांग के लिए नई वीजा व्यवस्था लागू करने से चीन भड़क गया। चीन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। इधर, शुक्रवार को चीन ने घोषणा की कि बीएन (ओ) पासपोर्ट अब वैध आईडी दस्तावेज के रूप में नहीं होंगे। हालांकि यह कदम काफी हद तक प्रतीकात्मक था क्योंकि हांगकांग के लोग शहर से बाहर जाने के लिए स्वयं के पासपोर्ट या आईडी कार्ड का उपयोग करते हैं।

बीजिंग ने कहा कि वह आगे और कदम उठाने के लिए तैयार है। इससे आशंका पैदा हो रही है कि लोगों को ब्रिटेन जाने से रोकने की कोशिश की जा सकती है। बता दें कि हांगकांग की एक बड़ी संख्या ( 7.5 मिलियन आबादी का लगभग 70 प्रतिशत ) के पास बीएन (ओ) पासपोर्ट है। ब्रिटेन को अगले वर्ष तक 154,000 लोगों और पांच वर्षों में 322,000 से ज्यादा लोगों के हांगकांग से आने की संभावना है। साथ ही यह भी अनुमान जताया जा रहा है कि ब्रिटेन को इससे 4 बिलियन डॉलर का नेट बेनिफिट होगा।

Hong Kong मामले पर Australia और Britain के बाद अब New Zealand ने China को दिया करारा झटका

बता दें कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इसी सप्ताह नई वीजा स्कीम के बारे में कहै था कि हांगकांग के लोगों के साथ इतिहास और दोस्ती के हमारे गहन संबंध हैं और हम उनकी स्वतंत्रता और स्वायत्तता के लिए साथ खड़े हैं।

क्या है बीएन (ओ) पासपोर्ट?

आपको बता दें कि 1997 में बीएन (ओ) पास्पोर्ट का एग्रीमेंट हुआ था। बीएन (ओ) समझौता के तहत हांगकांग के 1997 से पहले पैदा हुए लोगों को एक बार में छह महीने के लिए ब्रिटेन में रहने का अधिकार मिला, लेकिन काम करने या बसने का अधिकार नहीं दिया गया था। बीएन (ओ) पासपोर्ट हांगकांग को चीन को सौंपने के समय का है। उस समय हांगकांग के कई लोग ब्रिटेन की पूर्ण नागरिकता चाहते थे, लेकिन चीन इस कदम का विरोध कर रहा था।