इस देश में कोरोना के साथ इबोला ने दी दस्तक, सात दिनों में 4 लोग संक्रमित

|

Published: 15 Feb 2021, 01:17 AM IST

Highlights

  • 2013 से 2016 के बीच में अफ्रीकी देशों में 11,300 लोगों की मौत।
  • अब तक 2260 लोगों की इबोला वायरस से मृत्यु हो चुकी है।

गोमा। कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया के लिए बुरी खबर है। अफ्रीकी देश डेमोक्रैटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में इबोला वायरस (Ebola Virus) तेजी से फैल रहा है। बीते 7 दिनों में कांगो के नॉर्थ किवु प्रॉविंस में चार मरीजों में इबोला के संक्रमण की पुष्टि हुई।

दिल्ली: रसोई गैस 50 रुपये हुआ महंगा, दाम में तीसरी बार हुई बढ़ोतरी

प्रांतीय स्वास्थ्य मंत्री यूजीन नाजानू सलिता के अनुसार प्रदेश में इबोला का पहला मामला सात फरवरी को सामने आया था। गौरतलब है कि 2013 से 2016 के बीच में अफ्रीकी देशों में 11,300 लोगों की मौत हो चुकी है।

इबोला और कोरोना से बिगड़े हालात

कांगों के इक्वेटियर प्रांत में वर्ष 2018 में इबोला फैला था और 54 मामले सामने आए थे। इस दौरान 33 लोगों की मौत हो गई थी। कांगो अपने पूर्वी इलाके में इबोला वायरस के दूसरे सबसे बड़े प्रकोप से जूझ रहे हैं। कांगो में दो नई वैक्‍सीन के उपयोग के बाद भी अब तक 2260 लोगों की इबोला वायरस से मृत्यु हो चुकी है।

विद्रोहियों के हमले से वैक्सीनेशन रुका

कांगो कोरोना व इबोला वायरस की दोहरी मार को झेल रहा है। कांगो में कोरोना वायरस के अबतक 24,240 मामले सामने आए हैं। वहीं 693 लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है। कांगो में इबोला के खात्‍मे को लेकर दो वैक्‍सीन का उपयोग किया गया है। विद्रोहियों के इलाके में हेल्‍थ वर्कर्स पर हो रहे हमले और गृह युद्ध के कारण इस वायरस का अंत नहीं हो सका है।