कोरोना संक्रमण से बाहर आए Donald Trump की पहली चुनावी रैली, लॉकडाउन का विरोध किया

|

Published: 14 Oct 2020, 12:57 AM IST

Highlights

  • एक अक्टूबर को ट्रंप कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए थे।
  • ट्रंप ने अमरीकी नागरिकों से अपील की कि वे बाहर आएं और अपने काम को दोबारा से शुरू करें।

वाशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने एक चुनावी रैली में लॉकडाउन (Lockdown) लागू करने की वकालत करने वालों का विरोध करते हुए कहा है कि इलाज, समस्या से बदतर नहीं होना चाहिए।

शोध में खुलासा: Coronavirus के संक्रमण से बाहर निकलने के महीनों बाद भी पाए गए लक्षण

कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद पहली बार चुनावी रैली को संबोधित कर रहे ट्रंप ने कहा कि लॉकडाउन से राज्यों को बड़े पैमाने पर गंभीर समस्या का सामना करना पड़ा है।

निदान समस्या से बदतर नहीं हो सकता

अमरीका के फ्लोरिडा में अपने हजारों समर्थकों को संबोधित कर ट्रंप का कहना है कि उन्हें याद रखना होगा कि निदान समस्या से बदतर नहीं हो सकता है। गौरतलब है कि एक अक्टूबर को ट्रंप कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और इसके बाद वह सैन्य अस्पताल में तीन दिनों तक भर्ती हुए। इसके बाद प्रचार से दूर रहकर क्वारंटीन होना पड़ा। उन्हें मजबूरन चुनावी रैलियों से विश्राम लेना पड़ गया। वाइट हाउस के चिकित्सकों ने अब उन्हें चुनावी रैली करने के लिए मंजूरी दे दी है।

पहले की अपेक्षा ज्यादा तरोताजा महसूस कर रहे

ट्रंप के अनुसार डेमोक्रेटों शासित राज्यों में लॉकडाउन के कारण व्यापक क्षति हुई है। उन्होंने इलाकों को पूरी तरह से सील कर दिया। इससे उन्हें भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है। अपने चुनावी अभियान को दोबारा से तेज करने के इरादे से ट्रंप ने जोरदार तरीके से आगाज किया है। 74 साल के ट्रंप ने अपने समर्थकों से कहा कि वे कोरोना से ठीक होने के बाद पहले की अपेक्षा ज्यादा तरोताजा महसूस कर रहे हैं।

ब्रिटेन: पीएम Boris Johnson ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए बनाई योजना

राष्ट्रपति ने अमरीकी नागरिकों से अपील की कि वे बाहर आएं और अपने काम को दोबारा से शुरू करें। ट्रंप ने दावा किया कि उनकी नीतियों के कारण लाखों लोगों की जान बची है। उन्होंने कहा कि ये चीन की गलती है। उन्होंने ऐसा होने दिया।