ब्रिटेन के प्रिंस हैरी नहीं चाहते थे अपनी मां डायना जैसा हश्र, इस लिए शाही परिवार से हुए अलग

|

Updated: 02 Mar 2021, 11:02 AM IST

- राजकुमार प्रिंस ने कहा, राजशाही से अलग होना एक बहुत मुश्किल प्रक्रिया है।

वाशिंगटन। ब्रिटेन के प्रिंस हैरी ने शाही परिवार को छोडऩे पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उनका सबसे बड़ा डर था कि 'इतिहास खुद को न दोहरा दे।' हैरी का आशय अपनी मां डायना से था, जिनके पीछे ब्रिटिश प्रेस लगातार पड़ी रहती थी। प्रिंस चाल्र्स से तलाक होने के बाद उन्होंने अपना अलग रास्ता चुना था। पेरिस में एक कार दुर्घटना में प्रिंसेस डायना की 36 साल की उम्र में मृत्यु हो गई। ओपरा विनफ्रे को दिए गए पहले औपचारिक टीवी इंटरव्यू में हैरी ने अपनी पत्नी मेगन मर्केल का हाथ थामे हुए कहा कि कम से कम हम साथ तो बैठे हैं।  हैरी व मर्केल पिछले साल मार्च  माह में शाही परिवार से अलग होकर अमरीका के कैलिफोर्निया में बस गए थे। रविवार को प्रसारित होने वाले इंटरव्यू की कुछ क्लिप सार्वजनिक की गई हैं। 

अब नहीं लौट पाएंगे शाही परिवार में-
ब्रिटेन के बकिंघम पैलेस ने पिछले महीने घोषणा की थी कि यह जोड़ा अब शाही परिवार के कार्यकारी सदस्यों के रूप में अब कभी वापस नहीं लौट पाएगा। हैरी की दादी क्वीन एलिजाबेथ ने कहा कि उन्हें राजशाही छोड़े एक साल हो गया है। उनकी मानद सैन्य नियुक्तियां और राजशाही के पद शाही परिवार के अन्य कार्यकारी सदस्यों में वितरित कर दिए जाएंगे।

नस्लवादी टिप्पणियों ने भी किया परेशान -
प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल की शादी मई, 2018 में हुई थी।  इसके एक साल बाद उनका बेटा आर्ची पैदा हुआ। वे कहते रहे हैं कि ब्रिटेन की मीडिया ने उनकी निजी जिंदगी में घुसपैठ करते हुए जीना मुहाल कर दिया था। अफ्रीकी-अमरीकी मर्केल पर लगातार नस्लवादी टिप्पणियां की जाती थी। वास्तव में, लंदन छोड़कर कैलिफोर्निया जाने से पहले हैरी और उनकी पत्नी ने एक ब्रिटिश टेबलॉइड समाचार पत्र के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।  जिनकी खबरों में नस्लवादी टिप्पणियां की गई थीं।