बोइंग ने 737 मैक्स जेट का घाटा घटाने को बैंकों से 12 अरब डॉलर का लोन उठाया

|

Updated: 01 Feb 2020, 08:23 AM IST

इथियोपिया व इंडोनेशिया में दो दुर्घटनाओं के बाद कंपनी पर सुरक्षा कारणों को लेकर प्रतिबंध लगाए गए हैं।

वॉशिंगटन। अमरीकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग को अपने 737 मैक्स जेट पर संकट को कम करने के लिए मदद के तौर पर एक दर्जन से अधिक बैंकों से 12 अरब डॉलर लेने पड़े हैं।

बीते दिनों हुई घातक दुर्घटनाओं के बाद कंपनी के 737 मैक्स जेट के डिजाइन पर दुनियाभर में सवाल खड़े हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शुरुआत में कॉर्पोरेट लिक्विडिटी कंपनी के लिए चिंता का विषय नहीं थी, लेकिन सच्चाई यह है कि फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) ने इथियोपिया व इंडोनेशिया में दो दुर्घटनाओं के बाद कंपनी पर सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए प्रतिबंध जारी रखे। इससे बोइंग को कर्ज के लिए मजबूर होना पड़ा। बीते दिनों हुई इन दुर्घटनाओं में कुल 346 लोग मारे गए थे।

सोमवार को एक रिपोर्ट के अनुसार, विश्लेषकों ने कहा है कि यह राशि काफी बड़ी है उम्मीद से भी दो अरब अधिक है। उन्होंने अनुमान लगाया कि दो बार विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद कंपनी पर लगे प्रतिबंध के कारण इसे प्रति माह लगभग एक अरब डॉलर का नुकसान हो रहा है। तीसरी तिमाही में बोइंग ने नकारात्मक मुक्त नकदी प्रवाह (नेगेटिव फ्री कैश फ्लो) में लगभग तीन अरब डॉलर की सूचना दी थी।