बोइंग विमानों को लेकर रिपोर्ट में खुलासा, 2016 में ही पायलट को पता चल गई थी खामियां

|

Updated: 20 Oct 2019, 03:07 PM IST

  • बोइंग ने गुरुवार को अमरीकी संघीय विमानन प्रशासन को जांच संबंधी जानकारी सौंपी
  • पायलट और उसके सहकर्मी के बीच हुए संवादों की पहचान की थी

वाशिंगटन।बोइंग के 737 मैक्स जेट विमान की खामियों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। अमरीका के संघीय जांचकर्ताओं की ओर से जारी दस्तावेजों के अनुसार बोइंग के पायलट ने विमान 737 मैक्स जेट की कार्य प्रणालियों पर चिंता व्यक्त की थी। यह साल 2016 था।

एक रिपोर्टों के अनुसार बोइंग पायलट तीन साल पहले ही 737 मैक्स जेट विमान की चिंताजनक खामियों के बारे में अवगत थे। हालांकि इस बात की जानकारी नहीं दी गई है कि ये खामियां क्या थी?

बोइंग ने गुरुवार को अमरीकी संघीय विमानन प्रशासन को जांच संबंधी जानकारी सौंपी। इसमें कहा गया है कि विमान कंपनी ने कुछ माह पहले ही पायलट और उसके सहकर्मी के बीच हुए संवादों की पहचान की थी। ये खुलासे बोइंग के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं,जिसने मार्च में 737 मैक्स जेट विमानों का परिचालन रोक दिया था।

यह खुलासा बोइंग शेयरधारकों के लिए एक सदमे की तरह है क्योंकि शेयरधारकों को भरोसा था कि 737 मैक्स जेट दोबारा परिचालन में वापसी कर सकते हैं। उड़ान में प्रतिबंधों के बाद से बोइंग का स्टॉक नौ फीसदी गिर गया है।

बता दें कि इस साल मार्च में इथोपिया की राजधानी अदीस अबाबा में केन्या की राजधानी नैरोबी के लिए उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही बोइंग का 737 मैक्स-8 दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में विमान में सवार 157 यात्रियों की मौत हो गई थी।

यही नहीं अक्तूबर 2018 में लॉयन एयरलाइंस का बोइंग मैक्स विमान भी इंडोनेशिया के जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें 189 लोग मारे गए थे। इन घटनाओं के बाद से ही दुनिया के कई देशों ने बोइंग विमान के उड़ान पर प्रतिबंध लगा दिया था।