एस्ट्राजेनेका पर पांबदी लगने से कई यूरोपीय देशों में परेशानी बढ़ी

|

Published: 16 Mar 2021, 01:06 AM IST

Highlights

  • फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि उनके देश ऐहतियातन वैक्सीन पर पाबंदी लगी है।
  • जल्द इस वैक्सीन की जांच रिपोर्ट सामने आने वाली है।

नई दिल्ली। कई देशों में कोरोना की दूसरी लहर परेशानी बढ़ानी शुरू कर दी है। वहीं कोविड-19 की वैक्सीन एस्ट्राजेनेका पर यूरोप के कई देशों में अस्थायी तौर पर रोक लगा दी है।

कुछ देशों में इस वैक्सीन के कारण खून के थक्के जमने की रिपोर्ट सामने आई है। इसे लेकर फ्रांस, इटली और जर्मनी ने इसके इस्तेमाल पर फिलहाल रोक लगा दी है।

ये भी पढ़ें: कोरोना इफ़ेक्ट: पंजाब बोर्ड ने 10वीं-12वीं की परीक्षाएं स्थगित की

इटली में एक 57 वर्षीय शिक्षक के वैक्सीन लेने के कुछ देर बाद ही मौत हो गई। इस खबर ने कई शंकाएं पैदा कर दी हैं। इटली ने इस मौत की जांच के लिए ऑटोप्सी करने को कहा है।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि उनके देश में भी ऐहतियातन ऑक्सफोर्ड की एस्ट्राजेनेका वैक्सीन पर मंगलवार तक के लिए पाबंदी लगाई गई है। इसी दिन यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी इस वैक्सीन पर अपनी रिपोर्ट देगी। उन्होंने कहा कि फ्रांस को उम्मीद है कि जल्द ही एस्ट्राजेनेकी वैक्सीन फिर से लोगों को दी जाएगी।