Coronavirus का बड़ा असर, भारत से सीधी उड़ानों पर ऑस्ट्रेलिया ने भी लगाई रोक

|

Published: 27 Apr 2021, 11:40 AM IST

भारत में Coronavirus के बढ़ते खतरे के बीच ऑस्ट्रेलिया सरकार का बड़ा फैसला, 15 मई तक लगाई सीधी उड़ानों पर रोक

नई दिल्ली। भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के खतरे को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया ( Australia )ने बड़ा कदम उठाया है। ऑस्ट्रेलिया ने भारत से आने वाली सीधी उड़ानों पर 15 मई तक रोक लगा दी है। देश के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ( Scott Morrison )की ओर से महामारी के मामलों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

इसके तहत आगामी 15 मई तक भारत से कोई उड़ान ऑस्ट्रेलिया नहीं जाएगी। आपको बता दें इससे पहले और भी कई देश भारत से आने वाले उड़ानों पर रोक लगा चुके हैं।

यह भी पढ़ेँः Corona काल में Indian Railways की पहल, शुरू की सात समर स्पेशल ट्रेनें, जानिए रूट और शेड्यूल

भारत में लगातार बढ़ते कोरोनावायरस संकट को देखते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 15 मई तक भारत से आने वाली डायरेक्ट पैसेंजर फ्लाइट्स पर रोक लगाने का फैसला किया है। ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने मंगलवार को यह फैसला लिया।

मौजूदा समय में भारत में सबसे ज्यादा रोजाना कोरोना के नए मरीज सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि कई देशों ने भारत से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इनमें थाइलैंड, सिंगापुर, बांग्लादेश और ब्रिटेन प्रमुख रूप से शामिल हैं।

कोरोनावायरस संक्रमण के कारण भारत की स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर भारत के लिए कहर बनकर आई है। पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर से संक्रमण के 3 लाख 23 हजार 144 नए मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1 करोड़ 76 लाख 36 हजार 307 पहुंच गई है। इसमें सक्रिय मामलों का आंकड़ा 28 लाख 82 हजार 204 पहुंच गया है। जबकि 1 करोड़ 45 लाख 56 हजार 209 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं।

यह भी पढ़ेँः भारत में कोरोना संकट पर पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने जताया दुख, विश्व से मदद की अपील की

आपको बता दें कि भले कुछ देशों ने एहतियात के दौर पर भारत से सीधी उड़ानों पर रोक लगाई है, लेकिन कई देशों इस महामारी के बढ़ते संकट के बीच मदद का हाथ भी बढ़ाया है। भारत में कोरोनावायरस से बिगड़ते हालात को देखते हुए दुनियाभर से मदद का हाथ बढ़ाया जा रहा है।

इसी कड़ी में अमरीका की शीर्ष 40 कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत की मदद करने के लिए एक वैश्विक कार्यबल का गठन किया है। अगले कुछ हफ्तों में भारत में 20,000 ऑक्सीजन मशीनें भेजने की प्रतिबद्धता जताई गई है।