एंटीगुआ के पीएम का खुलासा, प्रेमिका को घुमाने के चक्कर में मेहुल चोकसी का हुआ भंडाफोड़

|

Updated: 30 May 2021, 09:37 PM IST

एंटीगुआ और बारबुडा से भगोड़े मेहुल चोकसी के रहस्यमय ढंग से लापता होने पर जारी सस्पेंस के बीच एंटीगुआ और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा कि डोमिनिका के लिए चोकसी को भारत निर्वासित करना संभव है क्योंकि वह अवैध रूप से देश में प्रवेश किया था।

सेंट जॉन्स। पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ रुपये घोटाला कर फरार होने वाले भगोडे मेहुल चोकसी को वापस भारत लाने के लिए कानूनी प्रक्रियाएं की जा रही है। लेकिन इस बीच एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन का बड़ा बयान सामने आया है।
दरअसल, एंटीगुआ और बारबुडा से भगोड़े मेहुल चोकसी के रहस्यमय ढंग से लापता होने पर जारी सस्पेंस के बीच एंटीगुआ और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने शनिवार को खुलासा करते हुए कहा कि डोमिनिका के लिए चोकसी को भारत निर्वासित करना संभव है क्योंकि वह अवैध रूप से देश में प्रवेश किया था।

यह भी पढ़ें :- मेहुल चौकसी को लौटाने पर एंटीगुआ में राजनीति गर्म, विपक्ष ने सरकार को घेरा

उन्होंने कहा, ऐसा प्रतीत होता है कि वह अपनी प्रेमिका को डोमिनिका की रोमांटिक यात्रा पर ले गया था, जहां उसका भंडाफोड़ हो गया। इससे पहले ब्राउन ने संकेत दिया था कि डोमिनिका को चोकसी को सीधे भारत भेज देना चाहिए और उसे एंटीगुआ और बारबुडा नहीं लौटाना चाहिए क्योंकि वह संवैधानिक अधिकारों द्वारा संरक्षित होगा।

उन्होंने कहा कि देश इस मामले पर अदालत के अधिकार क्षेत्र का पूरी तरह से सम्मान करता है। ब्राउन ने कहा कि वैश्वीकृत दुनिया में जहां अपराधियों से लड़ने और उन्हें हराने के लिए सभी देशों के बीच सहयोग की आवश्यकता होती है और अपराधियों को उनके आपराधिक आचरण की सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य तंत्र के उपयोग से वंचित करना है।

पीएम ब्राउन ने चोकसी को भारत भेजने का किया आग्रह

पीएम ब्राउन ने आगे कहा, यही कारण है कि हमें डोमिनिका की सरकार को प्रोत्साहित करना है और उसे अवैध रूप से अपने देश में प्रवेश करने को लेकर भारत में निर्वासित करना चाहिए, जहां वह अभी भी एक नागरिक है।

प्रधान मंत्री ने आगे एक भगोड़े को पकड़ने के लिए राज्य के सहयोग के रूप में चोकसी के भारत को सीधे निर्वासन पर विचार करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, "हम इस मामले में अदालत के अधिकार क्षेत्र का सम्मान करते हैं। राज्य की ओर से मेरा अनुरोध, डोमिनिका के लिए चोकसी को सीधे भारत भेजने पर विचार करना, एक भगोड़े को पकड़ने के लिए राज्य के सहयोग के रूप में पूरी तरह से स्वीकार्य है।"

यह भी पढ़ें :- Dominica में पकड़ा गया लापता मेहुल चोकसी, जल्द भारत लाने की तैयारी

उन्होंने आगे कहा, "राज्य के सहयोग के लिए इस अनुरोध को किसी भी कानून का पालन करने वाली संस्था, सत्यनिष्ठा और वैध उद्देश्य से कभी भी" गलत विचार नहीं किया जा सकता है,।" अगर उन्हें (मेहुल चोकसी को) एंटीगुआ भेजा जाता है, तो उन्हें नागरिकता के कानूनी और संवैधानिक संरक्षण का लाभ मिलता रहेगा। बता दें कि ब्राउन ने पिछले हफ्ते कहा था कि अगर चोकसी देश छोड़कर भाग जाता है तो उसकी नागरिकता रद्द कर दी जाएगी।