चीन में होने जा रहे ओलंपिक का अमेरिकी सांसद कर रहे विरोध, जो बाइडेन से की अपील

|

Published: 27 Feb 2021, 07:40 PM IST

अमेरिका की भारतीय-अमेरिकन सांसद निक्की हेली सहित कई सांसदों ने चीन पर मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए 2022 के शीतकालीन ओलंपिक के बहिष्कार की मांग की है

नई दिल्ली। भारत के साथ चीन का विवाद तो जग जाहिर ही है कोरोना के बाद से अमेरिका का रवैया भी चीन के (America China Conflict) साथ ठीक नही रहा है। दोनों ओर से आरोपो-प्रत्यारोपों का दौर चलता रहा है और आज के समय में दोनों के बीच ऐसी दुश्मनी है कि दोनों देश एक दूसरे के सामने आने से भी कतराते है। अब चीन का एक और मामला तूल पकड़ते जा रहा है। जिसमें मानवाधिकारों के ‘घोर’ (China Human Rights Violations) उल्लंघन का आरोप लगाते हुए भारतवंशी अमेरिकी सांसद निक्की हेली (Nikki Haley) समेत कई बड़े नेताओं (Republicans) ने अमेरिका से चीन में आयोजित हो रहे 2022 शीतकालीन ओलंपिक का बहिष्कार करने की मांग की है।

इन नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (2022 Winter Olympics) से आग्रह किया है कि वे इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए नई जगह चुन लें। हालांकि व्हाइट हाउस (White House) की तरफ से यह कहा है कि नेताओं की मांग पर फिलहाल कोई फैसला नहीं किया गया है

राष्ट्रपति जो बाइडेन से की अपील

अमेरिकी सांसद निक्की हेली (Nikki Haley) ने राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) से भी खेल का बहिष्कार करने की मांग की है, साथ ही यह भी कहा है कि ‘हम बैठकर चुपचाप देखते नहीं रह सकते कि चीन (China) अपने मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन को छिपाने के लिए शीतकालीन ओलंपिक के आयोजन का इस्तेमाल करे। (Republican Leaders Appeal To Boycott 2022 Winter Olympics in China).’ इसे लेकर बाइडेन को एक पत्र भी लिखा गया है, जिसमें साफतौर पर लिखा है कि चीन मानवाधिकारों का उल्लंघन करता है। इसलिए ओलंपिक आयोजन का स्थान बदला जाए।

चीन पर लग चुके है आरोप

राष्ट्रपति को लिखे एक पत्र में सीनेटर रिक स्कॉट ने इस पर चर्चा के लिए एक बैठक बुलाने का अनुरोध किया है और अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) से 2022 शीतकालीन ओलंपिक के आयोजन के लिए नई जगह चुनने का आह्वान किया है (Republican Leaders Appeal To Boycott 2022 Winter Olympics in China). अमेरिका सहिक कई देश भी चीन पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगा चुके हैं। चीन पर उसके शिंजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों के नरसंहार का आरोप भी लगता आ रहा है। हाल ही में कनाडा ने भी चीन को नरसंहार करने वाला बताया है।