आखिर क्यों अमरीका में ट्रंप प्लाजा को डाइनामाइट से उड़ाना पड़ा, जानिए कैसी थी यह शानदार और भव्य इमारत

|

Published: 22 Feb 2021, 10:48 AM IST

Highlights.
- 39 मंजिल वाले इस भव्य इमारत में कसीनो और होटल थे
- 60 हजार वर्ग फुट की इस इमारत में 600 कमरों का होटल था
- इमारत पर काफी कर्ज हो गया था और इसे गिराने के प्रयास काफी पहले शुरू हो गए थे

 

नई दिल्ली।

अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्रंप प्लाजा डाइनामाइट से उड़ा दिया गया। विशेषज्ञ सवाल उठा रहे हैं कि क्यों न्यू जर्सी की इस भव्य इमारत को जमींदोज किया गया और क्या इससे न्यू जर्सी में ट्रंप के प्रभाव पर कोई असर पड़ेगा।

क्या था इमारत में
वर्ष 1984 में अटलांटिक सिटी में ट्रंप के रियल एस्टेट और होटल के साम्राज्य की पहली बड़ी उपलब्धि के तौर पर यह इमारत खड़ी थी। ट्रंप के मालिकाना हक वाले कसीनो में इसे ही सबसे उम्दा माना जाता रहा है। मगर हाल ही में इसे डाइनामाइट की तीन हजार छड़े लगाकर गिरा दिया गया। यह भव्य इमारत 39 मंजिला की थी। इसकी अनुमानित कीमत करीब 21 करोड़ डॉलर थी और यह लगभग 60 हजार वर्गफुट में फैली है। इस विशाल इमारत में बड़ा सा शानदार कसीनो और 600 कमरों वाला आलीशान होटल था।

गिराना क्यों पड़ा
शुरुआत में यह इमारत कामयाबी की पहचान थी। तमाम सेलेब्स यहां कांसर्ट करना अपनी खुशकिस्मती समझते थे। हॉलिवुड फिल्मों की शूटिंग इस इमारत में होती थी। मगर धीरे-धीरे समय बदला। 90 के दशक में यह इमारत नुकसान में जाने लगी। सिर्फ इसके कसीनो पर 50 करोड़ डॉलर तक का कर्ज हो गया। कभी मशहूर रहे कसीनो को सबसे पिछड़ा माना जाने लगा। बाद में इसे दिवालिया करार दे दिया गया। वर्ष 2009 में ट्रंप ने इससे किनारा कर लिया, लेकिन ट्रंप का नाम इससे जुड़ा रहा।

वर्ष 2014 में इस प्लाजा को बंद कर दिया गया, क्योंकि तब इसका राजस्व 2006 के मुकाबले करीब 50 प्रतिशत तक गिर गया था। वर्ष 2016 में निवेशक कार्ल सी इकान ने इसे काफी सस्ते दाम पर खरीदा। मगर काफी पहले से इसे गिराए जाने की कहानी लिखी जाने लगी थी, जो पिछले हफ्ते इसे जमींदोज करके पूरी हुई।