पश्चिम बंगाल में दोबारा बन रही TMC की सरकार, BJP की सीटों का आंकड़ा 100 के पार

|

Published: 28 Feb 2021, 08:37 AM IST

 Highlights

  • एबीपी न्यूज-सी वोटर ओपिनियन पोल के नतीजे दोबारा से तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में दिखाई दे रहे।
  • भाजपा (BJP) के खाते में 92 से 108 सीटें जाने का अनुमान है।

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों (West Bengal Election 2021) को लेकर सर्वे शुरू हो गए हैं। इनके परिणाम भी आने लगे हैं। एबीपी न्यूज-सी वोटर (ABP News-C Voter Opinion poll) ओपिनियन पोल के नतीजे में दोबारा से तृणमूल कांग्रेस (TMC) की सरकार बनने का कयास लगाया जा रहा है।

Milk Price Hike: कृषि कानून के विरोध में खाप पंचायत का फैसला, 1 मार्च से 100 रुपये लीटर बिकेगा दूध

वहीं भाजपा (BJP) के खाते में 92 से 108 सीटें जाने का अनुमान है। इस ओपिनियन पोल के अनुसार भाजपा सत्ता से दूर रहेगी मगर पिछले विधानसभा चुनाव में महज तीन सीटें पाने वाली पार्टी इस बार सौ सीटों के आंकड़े तक पहुंचती दिख रही है।

ओपिनियन पोल में आंकड़ों के अनुसार टीएमसी को 148-164 सीटें मिल रही हैं, वहीं भाजपा को 92-108 सीटें मिलने का अनुमान है। इसके साथ कांग्रेस-लेफ्ट गठबंधन को 31-39 सीटों का फायदा हो रहा है। बंगाल में 56 फीसदी लोगों ने सीएम ममता बनर्जी को ही सीएम पद की पहली पसंद बताया है।

पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर अभी तक 3 सर्वे हो चुके हैं। सभी में लगभग यही आंकड़ा है। सभी में ममता सरकार बनती नजर आ रही है। वहीं बीजेपी दूसरे स्थान पर है।

तीन से 100 से ज्यादा सीटों का उछाल

लोकसभा में बड़ी सफलता से उत्साहित भाजपा ने पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में बंगाल पर पूरा जोर लगा दिया है। बीते विधानसभा में मिली तीन सीटों से तुलना में इस बार ओपिनियन पोल में उसे सौ सीटों का उछाल मिल रहा है। हालांकि यह ममता को दोबारा से कुर्सी पर बैठने से रोकने के लिए नाकाफी रहा है।

लेफ्ट-कांग्रेस से सीटों का ट्रांसफर

ओपिनियन पोल में वोट शेयर की बात करें तो 42-44 फीसदी टीएमसी को, वहीं 38-40 फीसदी भाजपा को मिलता दिख रहा है। वोट प्रतिशत का अंतर बहुत कम है। पिछली बार से 20 प्रतिशत का उछाल असल में लेफ्ट व कांग्रेस के खाते से आ रहा है।

पोल के हिसाब से बंगाल में लेफ्ट और कांग्रेस का प्रदर्शन काफी खराब बताया जा रहा है। बीते कुछ सालों में भाजपा ही मुख्य विपक्षी दल की भूमिका में उभरी है। भाजपा की सीटों में बढ़ोतरी कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन के हिस्से से हो रही है। पोल के अनुसार गठबंधन को पिछली बार से आधी या उससे भी अधिक सीटों का नुकसान है। वहीं टीएमसी का जनाधार भी खिसका रहा है। ऐसे में भाजपा को बड़ा फायदा मिलने जा रहा है।