देश में कुल कितनी है इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या? रोजाना हो रही इतनी बचत

|

Updated: 27 Feb 2021, 09:19 PM IST

  • देश में पचास हजार से अधिक पहुंची इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या
  • दिल्ली में चार पहिया वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में स्विच करने की मुहिम

नई दिल्ली। भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। आलम यह है कि देश के कई हिस्सों में पेट्रोल 100 रुपए लीटर तक बिक रहा है। डीजल-पेट्रोल पर बेतहाशा बढ़ रहे रेट का ही असर है कि अब लोग इसका विकल्प तलाशने लगे हैं। यही नहीं सरकारें भी धीरे-धीरे डीजल-पेट्रोल वाहनों से इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर शिफ्ट होती दिखाई पड़ रहीं हैं। इसके साथ ही लोगों में भी इलेक्ट्रिक वाहन को लेकर जागरुकता आ रही है। हालांकि भारत के लोगों के लिए इलेक्ट्रिक वाहन अभी महंगा सौदा है, बावजूद इसके सरकार का ऐसे वाहनों पर जीएसटी, पंजीकरण और दूसरे शुल्क के साथ सब्सिडी देना रंग लाता नजर पड़ रहा है। इससे लोगों का अच्छा खासा पैसा तो बच ही रहा है, इसके साथ ही प्रदूषण से पर्यावरण की भी रक्षा हो रही है। ऐसे में जानते हैं कि इलेक्ट्रिक वाहनों से लोगों का क्या-क्या फायदे हुए हैं--

Ghazipur Border पर क्यों घट रही किसानों की संख्या? किसान नेताओं ने बताया कारण

इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या 50, 577

नेशनल ऑटोमोटिव बोर्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार देश में फिलहाल इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या 50, 577 हो गई है। इन वाहनों की वजह से रोजाना 43, 316 लीटर डीजल पेट्रोल की बचत हो रही है। इसके साथ ही इन वाहनों की मदद से 1 करोड़ 44 लाख 12 हजार और 700 लीटर पेट्रोल-डीजल की बचत हो चुकी है। इस हिसाब ने इलेक्ट्रिक वाहनों से अब तक 1 अरब 44 लाख 12 हजार 700 रुपए की बचत हुई है। जबकि हर रोज 3 लाख 46 हजार रुपए की बचत हो रही है। यही नहीं इससे पर्यावरण को होने वाले नुकसान से भी बचा जा चुका है। नैब की रिपोर्ट ने बताया कि यह इलेक्ट्रिक वाहनों की ही देन है कि हर रोज 99 हजार किलो कार्बनडाइऑक्साइड के उत्सर्जन पर रोक लग सकी है। रिपोर्ट के अनुसार अब तक 3 करोड़ 28 लाख किलो कार्बनडाइऑक्साइड का उत्सर्जन रुका है।

प्राइवेट अस्पतालों में इतने रुपए में मिलेगी Corona Vaccine की एक डोज, सरकार जल्द कर सकती है घोषणा

एक रिकॉर्ड के अनुसार-

कहीं आपके राज्य पर तो नहीं मंडरा रहा कोरोना का खतरा? केंद्र दिए कड़ाई के निर्देश

वहीं, दिल्ली सरकार के 'स्विच दिल्ली' इलेक्ट्रिक वाहन अभियान का तीसरे सप्ताह दिल्ली वासियों को इलेक्ट्रिक चार पहिया वाहनों के लाभों के बारे में जागरूक करने पर केंद्रित किया गया है। इसके तहत इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने वाले दिल्ली वासी दिल्ली सरकार की ईवी नीति के तहत लाभ उठा सकते हैं। दिल्लीवासियों ने बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक के चार पहिया वाहनों को बदलना शुरू कर दिया है। अगस्त 2020 में दिल्ली ईवी नीति के लॉन्च होने के बाद से अब तक 465 नए ईवी चार पहिया वाहनों का पंजीकरण किया गया है। दिल्ली में हर दिन ईवी के लिए पंजीकरण किए जा रहे हैं।