पंजाब में दिल दहलाने वाली घटना, महिला फाइनेंसर ने युवक को सिर्फ इसलिए जहर का इंजेक्शन लगाकर मार दिया

|

Published: 28 Feb 2021, 11:50 AM IST

Highlights.
- युवक महिला फाइनेंसर के यहां काम करता था और उसने नौकरी छोडऩे की धमकी दे दी थी
- पुलिस ने महिला फाइनेंसर और उसकी दोस्त को गिरफ्तार कर लिया, जबकि उसका बेटा फरार है
- करीब तीन घंटे तक तड़पने के बाद रीटा ने प्रकाश के परिजनों को उसकी हालत खराब होने की खबर की थी

 

नई दिल्ली।

पंजाब के लुधियाना जिले से दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक महिला फाइनेंसर ने एक युवक को छोटी सी बात पर जहर का इंजेक्शन लगाकर मार दिया। बताया जा रहा है युवक महिला फाइनेंसर के यहां काम करता था और उसने नौकरी छोडऩे की धमकी दे दी थी। पुलिस ने इस मामले में महिला फाइनेंसर, उसके बेटे और एक अन्य महिला, जो फाइनेंसर की दोस्त बताई जा रही है, के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

पुलिस ने महिला फाइनेंसर और उसकी दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसका बेटा फरार हो गया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, युवक को जहरीला इंजेक्शन देने के बाद वह करीब तीन घंटे तक तड़पता रहा। बाद में उसे अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन तब तक उसकी हालत काफी बिगड़ चुकी थी। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मृत युवक का नाम प्रकाश सिंह था। वह न्यू सतनगर, साहनेवाल का रहने वाला था। वह लुधियाना में 40 वर्षीय रीटा नाम की महिला फाइनेंसर के यहां काम करता था। उसका काम फाइनेंस की गई रकम की वसूली करना था।

क्या है पूरी घटना, कैसे सामने आया सच
गत 24 फरवरी को युवक का भाई राजदीप उसके ऑफिस में उससे मिलने पहुंचा। यहां उसने देखा कि उसके भाई प्रकाश और रीटा के बीच विवाद हो रहा है। रीटा का 20 वर्षीय बेटा अजय और रीटा की 40 वर्षीय दोस्त पूनम भी वहां मौजूद थी। राजदीप अपने भाई से मिलने के बाद वहां से चला गया। इसके बाद गत 26 फरवरी की देर रात रीटा का फोन आया कि उसके भाई प्रकाश की तबीयत काफी बिगड़ गई है। इसके बाद मौके पर प्रकाश के परिजन पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए, मगर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मृत युवक प्रकाश के भाई राजदीप ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि जब प्रकाश को अस्पताल लेकर जा रहा था, तब उसने बताया था कि उसे जहरीला इंजेक्शन दिया गया है, क्योंकि उसने नौकरी छोडऩ की बात रीटा से कही थी।

राजदीप ने बताया कि रीटा ने प्रकाश को अस्पताल पहुंचाने के बजाय उसे तड़पता हुआ छोड़ दिया और हालत बिगडऩे पर हमें फोन किया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रकाश की हत्या के आरोपा में रीटा और उसकी दोस्त पूनम को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि अजय अभी भी फरार है। उसकी तलाश में छोपमारी कर रहे हैं और मामले की विस्तृत जांच की जा रही है।