कोरोना संकट के बीच आज शाम 5 बजे देश को संबोधित करेंगे PM Modi, जानिए किन मुद्दों पर हो सकती है बात

|

Published: 07 Jun 2021, 02:26 PM IST

कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश को शाम 5 बजे संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus In India ) की दूसरी लहर अब लगातार कमजोर पड़ रही है। देश में रोजोना आने वाले कोरोना के नए मामलों में भी कमी देखने को मिल रही है। कोरोना को लेकर राहत के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) देश की जनता को संबोधित करेंगे।

पीएम मोदी सोमवार शाम पांच बजे देश को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी गई है।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली-महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में आज से अनलॉक शुरू, कुछ प्रदेशों में बढ़ रही पाबंदियां, जानिए आपके इलाके का हाल

कोरोना की दूसरी लहर से राहत और तीसरी लहर की तैयारियों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार शाम 5 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे।

इस बात की उम्मीद
उम्मीद जताई जा रही है कि अनलॉक की प्रक्रिया के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों से सावधानी बरतने की अपील कर सकते हैं, साथ ही वैक्सीनेशन को लेकर भी संदेश दिया जा सकता है।

दरअसल कोरोना के घटते मामलों के बीच कई राज्यों ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ऐसे में पीएम जनता से संवाद कर उन्हें यह बता सकते हैं कि देश में वायरस कमजोर जरूर पड़ा है लेकिन अभी खतरा बरकरार है।

IMA की अपील का भी कर सकते हैं जिक्र
हाल में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ( IMA ) ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर यह मांग की थी कि वह डॉक्टरों-स्वास्थ्यकर्मियों के बीच बढ़ते हमलों के मामले में हस्तक्षेप करें। ऐसे में मुमकिन है कि प्रधानमंत्री मोदी अपने संबोधन में इस बात का भी जिक्र करें की स्वास्थ्यकर्मियों और डॉक्टरों पर कमेंट करने से बचा जाए।

यह भी पढ़ेंः कोेरोना की तीसरी लहर से पहले सरकार करने जा रही ये काम, जानिए किस बात को लेकर जगी उम्मीद

वैक्सीनेशन के मुद्दे पर भी बात संभव
पीएम मोदी ने हाल में लगातार कई सेक्टर्स के साथ बैठक की और आने वाले वक्त में क्या नीति होनी चाहिए, इस पर मंथन किया।

इस बीच अब जब वैक्सीनेशन को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं, तो ऐसे में पीएम मोदी की ओर से संबोधन में वैक्सीन को लेकर भी जिक्र संभव है। दरअसल विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर आरोप लगा रहा है कि उन्होंने वैक्सीन का निर्यात क्यों किया?