PM Modi ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय को दी श्रद्धांजलि, कहा - उनके विचार आज भी महत्वपूर्ण

|

Updated: 11 Feb 2021, 11:49 AM IST

  • कुशल संगठनकर्ता और चिंतक थे दीनदयाल उपाध्याय।
  • आरएसएस और बीजेपी के मूल में उनके विचार समाहित हैं।

नई दिल्ली। आरएसएस और बीजेपी के कुशल संगठनकर्ता, विचारक और तेजतर्रार नेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की आज पुण्यतिथि है। उनकी पुण्यतिथि को बीजेपी देशभर में समर्पण दिवस के रूप में मना रही है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कहा कि दीनदयाल अविरल रूप से हम सभी को देश के लिए कुछ करने की प्रेरणा देते रहे हैं। आज हम उन्हीं के विचारों के आधार देश को आगे ले जा रहे हैं।

उनके आदर्शों पर अमल करने की जरूरत

उनका एकात्म मानव दर्शन का चिंतन हमेशा प्रासंगिक रहेगा। हमें उनके आदर्शों पर आगे बढ़ना चाहिए। लोकतांत्रिक मूल्यों को कैसे जीना चाहिए, को लेकर उनके विचार काफी महत्वपूर्ण हैं। वे एक नए विचार को लेकर आगे बढ़े थे, लेकिन हर विचारधारा से जुड़े रहते थे। उन्होंने अपने पॉलिटिकल डायरी में नेहरू जी की नीतियों की कुई मुद्दों पर खुलकर आलोचना की। उन्होंने जिस अंत्योदय की विचार को प्रतिष्ठापित किया वो आज भी हमारे काम आ रहे हैं।

कुशल संगठनकर्ता और चिंतक

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में दीनदयाल उपाध्याय जी को भारतीय राजनीति का शिखर पुरुष बताया। उन्होंने कहा कि बहुत कम अवधि में उन्होंने भारतीय जनसंघ की गतिविधि और संगठन विस्तार को देशभर में फैलाया। बीजेपी की विचारधारा के मूल में उनकी सोच समाहित है। उनका व्यक्तित्व बहुआयामी था। उनमें राजनेता, संगठनकर्ता और विचारक के गुण थे।

बता दें कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय आरएसएस के चिंतक और कुशल संगठनकर्ता थे।