दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि को समर्पण दिवस के रूप में मनाने का फैसला, पीएम मोदी करेंगे संबोधित

|

Published: 10 Feb 2021, 04:20 PM IST

Highlights

  • अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में सुबह दस बजे होने वाले कार्यक्रम में सांसद शामिल होंगे।
  • भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी सुबह और शाम संबोधित करेंगे।

नई दिल्ली। 11 फरवरी को भारतीय जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि है। इस दिन को भाजपा ने समर्पण दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है। गुरूवार को अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में सुबह दस बजे लोकसभा सांसद और शाम 5 बजे राज्यसभा सांसद समर्पण दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

पीएम मोदी सुबह 11 बजे समर्पण दिवस कार्यक्रम में उपस्थित होंगे। दीनदयाल उपाध्याय के जीवन उनके आदर्शो को लेकर भाजपा सांसदों को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के साथ भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी सुबह और शाम संबोधित करेंगे।

1951 में भारतीय जनसंघ को खड़ा किया

मशहूर विचारक और दार्शनिक पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितंबर 1916 को मथुरा में हुआ था। पंडित दीनदयाल जब अपनी स्नातक स्तर की शिक्षा ले रहे थे, उसी समय वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संपर्क में आए। वह आरएसएस के प्रचारक बन गए। हालांकि प्रचारक बनने से पहले उन्होंने 1939 और 1942 में संघ की शिक्षा का प्रशिक्षण भी हासिल किया था। इस प्रशिक्षण के बाद ही उन्हें प्रचारक बनाया गया था।

साल 1951 में भारतीय जनसंघ की नींव रखी गई थी। बाद में यह राजनैतिक के रूप में उभरी। इस पार्टी को बनाने का पूरा कार्य उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर किया था। 11 फरवरी 1968 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की मृत्यु हो गई थी।