Cyclone Nisarga Update: 1 बजे बाद अलीबाग से टकराएगा तूफान, BMC advisory- क्या करें और क्या नहीं

|

Updated: 03 Jun 2020, 11:22 AM IST

-Cyclone Nisarga Live Update: चक्रवाती तूफान निसर्ग ( Cyclone Nisarga in Maharashtra) अगले कुछ घंटों में मुंबई ( Mumbai ) में दस्तक देने वाला है।
-एनडीआरएफ ( NDRF ) समेत सभी एजेंसियों को हाई अलर्ट ( High Alert ) पर रखा गया है।
-मौसम विभाग ( IMD Latest Update ) की ताजा रिपोर्ट के अनुसार चक्रवात निसर्ग आज दोपहर को महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात ( Gujrat ) से टकरा सकता है।
खतरे को देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम ( BMC Advisory Cyclone ) ने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है।

नई दिल्ली।
Cyclone Nisarga Live Update: चक्रवाती तूफान निसर्ग ( Cyclone Nisarga in Maharashtra) अगले कुछ घंटों में मुंबई ( Mumbai ) में दस्तक देने वाला है। तूफान से निपटने के लिए व्यापक तैयारी की जा रही है। एनडीआरएफ ( NDRF ) समेत सभी एजेंसियों को हाई अलर्ट ( High Alert ) पर रखा गया है। सबसे ज्यादा खतरा बेहद घने मुंबई महानगर पर बना हुआ है। मौसम विभाग ( IMD Latest Update ) की ताजा रिपोर्ट के अनुसार चक्रवात निसर्ग आज दोपहर को महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात ( Gujrat ) से टकरा सकता है।

लैंडफॉल ( Landfall ) के बाद इसकी रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। ऐसे में महाराष्ट्र और गुजरात में संभावित खतरे वाले इलाकों से लोगों को सुरक्षित निकाला जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन ( Lockdown ) की सभी छूट को वापस ले लिया है और धारा 144 लागू की है। बता दें कि करीब 129 सालों के बाद मुंबई इस तरह के शक्तिशाली तूफान का सामना कर रहा है।

बीएमसी की एडवाइजरी ( BMC Advisory Cyclone List of Dos and Don’ts )
मौसम विभाग के अनुसार निसर्ग तूफान मुंबई, मुंबई उपनगर, ठाणे, पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग ज़िले के तटवर्ती इलाकों को प्रभावित कर सकता है। खतरे को देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम ( BMC ) ने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है। लोगों से घरों में ही रहने की अपील की गई है। एडवाइजरी में बताया गया है कि इस गंभीर स्थिति में क्या करें और क्या नहीं।

Nisarga Cyclone: मुंबई में COVID-19 हॉस्पिटल से हटाए गए मरीज, गुजरात में 20 हजार लोग दूसरी जगह शिफ्ट

तूफान के बीच क्या करें? ( Cyclone Nisarga What dos ?)

-सभी को अपने घरों में ही रहना है। घर के बाहर रखी चीजों को अंदर रख लें।
-घर के बाहर खड़ी कारों को मजबूती से बांध लें। साथ ही पास में हथौड़ा रखें, ताकि विशेष परिस्थिति में कार के शीशे या दरवाजे तोड़ सकें।
-पावर बैंक, इमरजेंसी लाइट, टॉर्च, चार्जर, बैट्री आदि को संभाल कर रख लें।
-जरूरी कागजात, ज्वैलरी आदि को प्लास्टिक की बैग में अच्छे से पैक कर दें।
-टीवी के अलावा रेडिया को भी चालू कर लें। ताकि, तूफान की लाइव स्थिति का पता चल सकें।
-अगर आप कच्चे घर में या फिर झोपड़ी में रहते हैं तो इस बात की तैयारी कर लें कि घर की जगह का बेहतर इस्तेमाल किस तरह कर सकते हैं।
-इमरजेंसी किट को हमेशा तैयार रखें।
-कुछ खिड़कियों को बंद रखें जबकि कुछ खुली भी रखें ताकि घर में हवा का प्रेशन बराबर बना रहे।

#CycloneNisarga: अब मुंबई से सिर्फ 200 किलोमीटर दूर है खतरनाक चक्रवाती तूफान, अगले 3-5 घंटे बेहद अहम

-पानी भरने की स्थिति में मकान की छत पर चले जाएं।
-इमरजेंसी में भारी फर्नीचर के नीचे छिपे या उसे मजबूती से पकड़ कर रखे।
-बिजली की जिन चीजों का इस्तेमाल जरूरी नहीं है, उसके पावर काट दें।
-पीने के पानी को जमा कर के एक सुरक्षित जगह रख लें।
-जो लोग फंसे हो, उनकी मदद करें।
-अपने गैस के चूल्हे आदि को बंद रखें।

 

तूफान के समय क्या नहीं करें ?( Cyclone Nisarga WhatDon’ts ? )
-किसी भी अफवाह पर ध्यान नहीं दे और सूचना के सही स्रोत को देखें
-इमरजेंसी को छोड़कर आपको घर से बाहर नहीं जाना।
-गाड़ी वगैरह भी ड्राइव करने से बचें।
-जर्जर और पुरानी बिल्डिंग से खुद को दूर रखें
-किसी घायल शख्स को इधर-उधर ज्यादा नहीं ले जाएं।
-तेल या किसी और ज्वलनशील पदार्थ को फैलने नहीं दें।