कोरोना अपडेट
अमेरिका
केस 363321
मृत्यु10845
बेल्जियम
केस 22194
मृत्यु2035
चीन
केस 83157
मृत्यु3342
दिल्ली
केस 576
मृत्यु9
फ्रांस
केस 77226
मृत्यु10313
जर्मनी
केस 103228
मृत्यु1861
भारत
केस 4714
मृत्यु149
अंतर्राष्ट्रीय
केस 1353361
मृत्यु79235
ईरान
केस 62589
मृत्यु3872
इटली
केस 135586
मृत्यु17129
जम्मू-कश्मीर
केस 116
मृत्यु2
कर्नाटक
केस 175
मृत्यु4
केरल
केस 336
मृत्यु2
मध्य प्रदेश
केस 229
मृत्यु13
महाराष्ट्र
केस 1018
मृत्यु64
राजस्थान
केस 328
मृत्यु3
स्पेन
केस 140510
मृत्यु13798
स्विजटरलैंड
केस 22164
मृत्यु641
तमिलनाडु
केस 690
मृत्यु7
तेलंगाना
केस 427
मृत्यु7
यूके
केस 55246
मृत्यु6159
उत्तर प्रदेश
केस 343
मृत्यु3

लॉकडाउन के दौरान रेलवे ने लिया बड़ा फैसला, देशभर में 14 अप्रैल तक सभी यात्री ट्रेनों की सेवाएं बंद

|

25 Mar 2020, 07:55 PM IST

  • कोरोना वायरस को रोकने के लिए रेलवे बोर्ड का फैसला
  • लॉकडाउन के बाद फिर से रेलवे की रफ्तार पर लगाई गई ब्रेक
  • मालगाड़ी की आवाजाही पर रोक नहीं

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी से बचने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश में 25 मार्च से 21 दिन का लॉकडाउन का ऐलान किया है। सरकार के इस फैसले को देखते हुए रेलवे ने 14 अप्रैल तक अपने सभी यात्री ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया । रद्द होने वाली ट्रेनों में शताब्दी, राजधानी, दूरंतो, गतिमान, वंदेभारत, तेजस समेत सभी प्रीमियम, मेल/ एक्सप्रेस, सुपरफास्ट, पैसेंजर गाड़ियों के अलावा उपनगरीय सेवाएं भी शामिल हैं।

कोलकाता मेट्रो की सेवा भी बंद

रेलवे बोर्ड के मुताबिक यह कदम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा तीन हफ्ते तक लॉकडाउन की घोषणा को देखते हुए उठायाा गया है। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि 14 अप्रैल की रात्रि 12 बजे तक सभी यात्री ट्रेनों का परिचालन रद्द रहेगा और इस दौरान उपनगरीय रेल सेवाओं और कोलकाता मेट्रो रेल की सेंवाएं भी बंद रहेगी।

हालांकि इस दौरान मालगाड़ियों का परिचालन जारी रहेगा। बता दें कि इससे पहले रेलवे ने सभी ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगा दी थी। लॉकडाउन के ऐलान के बाद रेलवे ने 14 अप्रैल तक ट्रेनों के परिचालन रोक दी है। हालांकि इस दौरान मालगाड़ियों की आवाजाही चालू रहेगी।

ये भी पढ़ें: Coronavirus-Lockdown: बीपीएल परिवारों को 2 रुपए किलो गेहूं और 3 रुपए किलो चावल मिलेंगे- जावड़ेकर

कोरोना वायरस का बढ़ रहा प्रकोप

गौरतलब है कि दुनिया समेत भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 550 के पार तक पहुंच गई है। जबकि यहां मरने वालों की तादाद 11 हो गई है। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है।

ये भी पढ़ें: coronavirus: दिल्ली में मोहल्ला क्लिनिक का डॉक्टर कोरोना संक्रमित, राजधानी में मरीजों की संख्या 30 के पार

पीएम मोदी ने लोगों से घरों में रहने की अपील की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात को राष्ट्र के नाम संबोधन में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की। इस दौरान पीएम मोदी ने लोगों से 21 दिनों तक घरों के अंदर रहने को कहा है। पीएम मोदी ने बताया कि लोग 21 दिन तक अपने घरों में रहे। चाहे कुछ भी हो जाए लोग घरों से बाहर नहीं निकले।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन पर पीएम बोले, 21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पिछड़ जाएगा परिवार और देश

पीएम मोदी ने साफ तौर से कहा कि अगर लोग 21 दिन अपने घरों में नहीं रह सकते तो पूरा देश 21 साल पीछे चला जाएगा। लॉकडाउन के दौरान पूरा देश पूरी तरह से बंद रहेगा। हालांकि जरूरी सामानों की सप्लाई जारी रहेगी।

Related Stories