चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने जिन मरीजों से की मुलाकात उनमें से तीन मिले कोरोना संक्रमित, मचा हड़कंप

|

Published: 03 Jun 2020, 10:25 AM IST

- चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्नाके साथ भाजपाइयों ने किया था इमरजेंसी वार्ड का दौरा
- मेरठ से लेकर लखनऊ तक मच गया हड़कंप

मेरठ. मेडिकल काॅलेज के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती तीन मरीजों में कोरोना संक्रमण मिलने से हड़कंप मच गया है। बता दें कि गत सोमवार को इसी मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने दौरा किया था। उनके साथ कमिश्वर के अलावा जिले के तमाम आलाधिकारी भी मौजूद थे। इतना ही नहीं जिले के भाजपाई भी मंत्री के साथ ही थे। मंत्री अपने अमले के साथ इमरजेंसी वार्ड की होल्डिंग एरिया में गए थे। वहां भर्ती 5 मरीजों में मंगलवार को कोरोना संक्रमण की पुष्टि से मेरठ से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मच गया है।

यह भी पढ़ें- Greater Noida: 11 दिन के नन्हे मेहमान ने दी कोरोना को मात, लोगाें ने तालियां बजाकर किया स्वागत

दरअसल, मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना इन मरीजों हाल जाना था। अब मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डाॅ. एसके गर्ग कह रहे हैं कि जिस समय मंत्री दौरे पर थे। उस दौरान सोशल डिस्टेंस बनाया गया था। अगर किसी संक्रमित के पास 15 मिनट से अधिक तक रुकते हैं, तभी संक्रमण की संभावना होती है। अन्यथा संक्रमण नहीं फैलता है। कोरोना पीड़ित मिलने के बाद अब कैबिनेट मंत्री समेत भाजपा के कई स्थानीय नेताओं को क्वारंटीन होना पड़ सकता है। मेडिकल कर्मियों की मानें तो इस वार्ड के तीन मरीज संक्रमित हुए हैं। वहीं कइयों पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। हालांकि मेडिकलकर्मियों का यह भी कहना है कि अगर मंत्री मरीजों से न मिलते तो उन्हें वक्त पर इलाज भी न मिल पाता।

कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने ओपीडी के बाद इमरजेंसी वार्ड का दौरा किया था। कैबिनेट मंत्री, भाजपा नेता सुनील भराला ने रोगियों से भोजन व दवा मिलने का फीडबैेक लिया था। स्टाफ की मानें तो ये सभी नेता मरीजों के काफी करीब होकर बात कर रहे थे। जबकि स्वास्थ्य विभाग एवं मेडिकल कालेज के डाक्टर इस भीड़ में काफी पीछे चल रहे थे। इस वार्ड में मंत्री करीब आधे घंटे तक रुके। बाथरूम भी देखने गए। माना जा रहा है कि इतने समय में बड़े पैमाने पर वायरस संक्रमित हो सकता है। हालांकि मंत्री समेत सभी लोगों ने मास्क पहना हुआ था। सीएमओ डाॅ. राजकुमार ने बताया कि मंत्री के साथ बड़ी संख्या में लोग होल्डिंग वार्ड में गए थे, जहां तीन पॉजिटिव मिले हैं।

यह भी पढ़ें- दारुल उलूम वक्फ देवबंद ने लिया नए शिक्षण सत्र में दाखिलाें को लेकर बड़ा फैसला