शहीदों को इस अंदाज में श्रद्धांजलि देते हैं ये दो हिंन्दुतानी देशभक्त, जज्बा देख हो जाएंगे हैरान

|

Published: 13 Sep 2021, 02:33 PM IST

दिल्ली के अभिषेक गौतम और शामली के विजय हिंदुस्तानी भारतीय सेना के हर जवान की शहादत के बाद उनके नाम का टैटू अपनी पीठ पर बनवा लेते हैं। ये दोनों ही युवक ऐसा करने को अपनी सच्ची श्रद्धांजलि मानते हैं।

मेरठ. देश पर कुर्बान होने वाले शहीदों को अंतिम विदाई के दौरान हर कोई श्रद्धांजलि देने के लिए आगे आता है। समय के साथ-साथ इन शहीदों की शहादत को भी भुला दिया जाता है। लेकिन दो हिंदुस्तानी देशभक्त ऐसे हैं जिनका शहीदों को श्रद्धांजलि देने का अंदाज काफी निराला है। वह भी ऐसा कि ये ताउम्र अपने साथ शहीदों के नाम को लेकर घूमते हैं।

यह भी पढ़ें : गलियों और छतों पर दिखे सांप तो सताने लगी नौनिहालों की चिंता, फिर बुलाए सपेरे

दिनचर्या में शामिल है शहीदों का नाम

शहीदों का नाम इनकी दिनचर्या में शामिल रहता है। ये जहां जाते हैं शहीद देशभक्तों का नाम इनके साथ हमेशा रहता है। देश के लिए जहां एक ओर शहीद होने वाले युवा सैनिकों की कमी नहीं है तो देश में इन दो युवकों द्वारा शहीद युवा सैनिकों को श्रद्धांजलि भी गजब अंदाज में दी जाती है। जिसे जानकार आप भी हैरान हो जाएंगे। इन्होंने देशभक्ति का अनोखा जुनून दिखाया है।

शहीदों ने नाम बनवाते हैं टैटू

दिल्ली के अभिषेक गौतम और शामली के विजय हिंदुस्तानी भारतीय सेना के हर जवान की शहादत के बाद उनके नाम का टैटू अपनी पीठ पर बनवा लेते हैं। ये दोनों ही युवक ऐसा करने को अपनी सच्ची श्रद्धांजलि मानते हैं। खास बात यह है कि दिल्ली निवासी अभिषेक ने जहां अपनी पीठ पर 606 शहीदों के नाम गुदवाए हुए हैं। वहीं शामली के विजय हिंदुस्तानी ने अपनी पीठ पर पश्चिमी यूपी के 183 शहीदों के नाम के टैटू बनवाए हुए हैं।

शहीद मेजर मंयक को दी श्रद्धांजलि

रविवार को विजय हिंदुस्तानी तिरंगा झंडा लेकर शोपियां में शहीद हुए मेजर मयंक विश्नोई के आवास पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे। जैसे ही शहीद का पार्थिव शरीर उनके पैतृक आवास पर पहुंचा तो विजय हिंदुस्तानी ने भारत माता के नारे लगाते हुए देश के जाबांज शहीद को श्रद्धांजलि दी। अपने शरीर पर 183 शहीदों के नाम के टैटू बनवाए हुए विजय हिंदुस्तानी ने कंकरखेड़ा के शहीद मेजर मयंक विश्नोई को उनके आवास पर पहुंचकर सलामी दी। वह शामली से मेरठ पहुंचे और कंकरखेड़ा के बाजारों में मार्च करते हुए भारत माता के जयकारे लगाते हुए उनके आवास तक पहुंचे।

शहीदों की अंतिम यात्रा में शामिल होते हैं विजय

विजय हिंदुस्तानी ने बताया कि वह अभी तक देशभर में शहीद हुए 300 से अधिक शहीदों की अंतिम यात्रा में शामिल हो चुके हैं। कहा कि भारतीय सैनिक देश की आन-बान-शान की रक्षा के लिए रात दिन बॉर्डर पर रहते हैं। ऐसे में प्रत्येक हिंदुस्तानी का दायित्व बनता है कि राष्ट्र के लिए बलिदान होने वाले इन वीर सपूतों को सम्मान प्रदान करें। मैं इसे शहीदों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि मानता हूं।

वीर महापुरूषों के टेटू भी बनवाए हुए हैं टैटू

इसी तरह दिल्ली निवासी अभिषेक गौतम में अपनी पीठ पर एक दो नही, बल्कि 606 शहीदों के नाम गुदवाए हैं। यही नहीं, बल्कि कई महापुरुषों की तस्वीरें भी बनवाई हुई हैं। अभिषेक गौतम ने अपने शरीर पर कारगिल के अमर शहीद जवानों और पुलवामा में शहीद हुए जवानों के नाम गुदवाए हैं। इसके साथ ही अभिषेक गौतम ने देश के वीर महापुरूषों के टेटू भी बनवाए हुए हैं।

पुलवामा के शहीद अजय को सलामी देकर दी थी श्रद्धांजलि

अभिषेक गौतम ने साल 2019 में मेरठ के बसा टीकरी पहुंचकर पुलवामा के शहीद अजय कुमार को सलामी देकर श्रद्धांजलि दी थी। इस दौरान उन्होंने बताया था कि वह सभी शहीदों के घर जाएंगे। इसकी शुरुआत उसने शहीद अजय कुमार के घर से की है। अभिषके दिल्ली में इंटीरियर डिजाइनिंग का काम करते हैं।

BY: KP Tripathi

यह भी पढ़ें : मदरसे में बैठक कर मुस्लिमों ने तालिबान पर कहीं ये बात, जानकर हो जाएंगे हैरान