Lockdown के बीच खाना लेकर पहुंचे अधिकारी, गरीबों के खिल उठे चेहरे

|

Updated: 27 Mar 2020, 07:16 PM IST

Highlights:

-लॉकडाउन के चलते गरीब लोग काम पर नहीं जा पा रहे हैं

-ऐसे लोगों को सरकार द्वारा हर जरूरी मदद मुहैया कराई जा रही है

-मेरठ के अधिकारियों द्वारा गरीब लोगों को खाना परोसा गया

मेरठ। कोरोना वायरस के कारण देशव्यापी लॉकडाउन के चलते जनपद में कोई भूखा ना सोए, इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर सराहनीय व सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। जनपद के अपर पुलिस महानिदेशक, जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने विभिन्न स्थानों का दौरा कर झोपड़ पट्टी में रहने वाले व अन्य स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन का वितरण किया। वहीं आलाधिकारियों को देख जरूरतमंदों की आंखे चमक उठीं।

यह भी पढ़ें: इस शहर में कोरोना के मरीजों को रोबोट परोस रहा खाना, दवाई देने का भी कर रहा काम

इस अवसर पर अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार, जिलाधिकारी अनिल ढ़ींगरा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। इन्होंने जिले में जगह-जगह जाकर सदर स्थित झोपड़पट्टी व जनपद के अन्य विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट का वितरण किया।

यह भी पढ़ें : देवबंद में उलेमाओं की अपील के बाद जुमे के दिन का नजारा देख हर कोई कर रहा तारीफ

डीएम अनिल ढींगरा ने कहा कि जनपद में कोई भी भूखा नहीं सोएगा। विभिन्न सामाजिक संगठनों की सहायता से जनपद में विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंदों को निशुल्क कच्चे राशन का वितरण किया जा रहा है। देशव्यापी लॉक डाउन आमजन के स्वास्थ्य व दीर्घ जीवन के लिए किया गया है। आमजन को इसका महत्व समझते हुए अपने अपने घरों पर ही रहना चाहिए तथा साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखते हुए अपने हाथों को नियमित रूप से समय-समय पर साबुन से धोना चाहिए या सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए।