Tokyo Olympics: वंदना ने हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास, सीमा ने किया मेरठवासियों को निराश

|

Published: 31 Jul 2021, 12:01 PM IST

मेरठ के एथलीट आज दिखाएंगे टोक्यो में दमखम। चक्का फेंक क्वालीफाई राउंड में 16 वें स्थान पर रही सीमा। ओलंपिक में खिलाड़ियों के प्रदर्शन से निराश हुए परिजन।

मेरठ। टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में वंदना ने अफ्रीका के खिलाफ गोल की हैट्रिक लगाकर जहां इतिहास रच दिया। वहीं दूसरी ओर मेरठ की सीमा अंतिल के प्रदर्शन ने मेरठ वासियों को निराश कर दिया। पिछले कई मैचों में कुछ खास न कर पाने वाली वंदना ने शनिवार को ओलंपिक (Olympics 2020) में इतिहास रचा है। दरअसल, मेरठ के एथलीट आज से टोक्यो ओलंपिक में दम दिखाने के लिए मैदान में उतरेंगे। पैदल चाल खिलाड़ी प्रियंका गोस्वामी टोक्यो के लिए रवाना हो गईं।

यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: मीराबाई चानू की सफलता के पीछे इस व्यक्ति ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका, जानिये कौन हैं विजय शर्मा

प्रियंका के कोच गौरव त्यागी ने बताया उनके परिवार में और खेल जगत के लोग प्रियंका सहित मेरठी एथलीटों के जीत की प्रार्थना कर रहे हैं। प्रियंका छह अगस्त को दोपहर एक बजे 20 किमी. पैदल चाल स्पर्धा में प्रतिभाग करेंगी। वहीं सीमा अंतिल ने आज सुबह छह बजे चक्का फेंक क्वालीफाई राउंड में हिस्सा लिया,लेकिन इस बार उन्हें निराशा हाथ लगी।

यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: मीराबाई चानू के कोच विजय शर्मा का भव्य स्वागत, कई खिलाड़ियों की बदल चुके किस्मत

डिस्कस थ्रो में सीमा पूनिया फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकीं। वह16वें स्थान पर रहीं। उन्होंने 60.57 मीटर स्कोर किया। वहीं कमलप्रीत कौर चक्का फेंक के क्वालीफाई राउंड में दूसरे स्थान पर रहकर फाइनल में पहुंची। उन्होंने 64.0 मीटर स्कोर किया। ग्रुप ए में सीमा पूनिया का पहला प्रयास अवैध रहा। दूसरे प्रयास में उन्होंने 60.57 और तीसरे में 58.93 मीटर का थ्रो फेंका। महिला हॉकी में वंदना कटारिया ने अफ्रीका के खिलाफ गोल की हैट्रिक लगाकर जबरदस्त प्रदर्शन किया है।