पति ने जिस पत्नी की लिखवाई अपहरण की रिपोर्ट, एक सप्ताह से प्रेमी के साथ उड़ाती मिली गुलछर्रे

|

Published: 15 Sep 2021, 03:53 PM IST

विवाहिता थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र की रहने वाली है। सदर बाजार और महिला थाना पुलिस ने सोमवार रात होटल में छापा मारकर महिला और उसके प्रेमी को हिरासत में ले लिया।

मेरठ. पति ने जिस पत्नी के अपहरण की रिपोर्ट लिखवाई और उसकी तलाश में रात-दिन एक कर दिया। बेचारा भूखा-प्यासा अपनी पत्नी को तलाशता फिर रहा था। लेकिन उसकी पत्नी अपने प्रेमी के साथ एक सप्ताह से होटल में रहकर गुलछर्रें उड़ा रही थी। पुलिस ने विवाहिता और उसके प्रेमी को मेरठ के भैसाली बस स्टैंड के पास से पकड़ लिया और थाने ले आई।

यह भी पढ़ें : UP ASSEMBLY ELECTIONS 2022: बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ने से पहले देना होगा पार्टी सुप्रीमो के इन प्रश्नों का जवाब

होटल में छापा मारकर पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया

विवाहिता थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र की रहने वाली है। सदर बाजार और महिला थाना पुलिस ने सोमवार रात होटल में छापा मारकर महिला और उसके प्रेमी को हिरासत में ले लिया। महिला को कंकरखेड़ा थाने ले जाकर पति के सामने पूछताछ की गई। विवाहिता ने अपने पति के साथ रहने से इंकार कर दिया। पुलिस विवाहिता के प्रेमी से पूछताछ कर रही है।

ये था मामला

थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र निवासी एक युवक की पत्नी घर से सामान लाने के लिए निकली थी। लेकिन वह वापस नहीं लौटी तो पति ने थाने में महिला के अपहरण की तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर महिला के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने पति से विवाहिता का मोबाइल नंबर लेकर उसको सर्विलांस पर लगाया तो उसकी लोकेशन थाना सदर बाजार के आसपास मिली। पुलिस ने महिला के मोबाइल की लोकेशन के आधार पर उसे ढूंढ लिया।

थाने ले गई पुलिस

विवाहिता भैसाली बस अडडे के पास स्थित एक होटल में अपने प्रेमी के साथ गुलछर्रे उड़ाती मिली। पुलिस दोनों को हिरासत में लेकर थाने ले आई। जहां पर विवाहिता ने पति के संग जाने से इंकार कर दिया। पति ने शर्त रखी कि वह बच्चे को अपने पास ही रखेगा। इसके बाद महिला अपने प्रेमी के साथ और पति अपने बच्चे को लेकर थाने से चले गए। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि महिला बालिग है और प्रेमी के साथ रहने की जिद कर रही थी।

BY: KP Tripathi

यह भी पढ़ें : आवास-विकास कार्यालय के सामने जिंदा समाधि लेने की कोशिश में कई गांवों के किसान