CBSE Result 2021 सीबीएसई में लड़कियों ने मारी बाजी, अदिति ने किया जिला टॉप

|

Updated: 30 Jul 2021, 09:02 PM IST

CBSE Result 2021 update मेरठ में अदिति, सहारनपुर में अदिति गोयल और बिजनौर में मुस्कान अरोड़ा ने बाजी मारी तो शामली में आरब ने छात्राओं को पछाड़ते हुए 99:2 फीसदी अंक हासिल किए।

मेरठ ( CBSE Result 2021 ) हर साल की तरह इस बार भी सीबीएसई बोर्ड में लड़कियों ने बाजी मारी है। मेरठ की अदिति ने जिला टॉप किया है। इसी तरह से सहारनपुर में अदिति गोयल ने 99.8 प्रतिशत अंक हांसिल कर प्रथम स्थान हासिल किया है तो बिजनौर में मुस्कान अरोड़ा ने 99.2 अंक प्राप्त किए हैं। शामली में आरब ने छात्राओं को पछाड़ते हुए 99:2 फीसदी अंक हासिल किए हैं।

यह भी पढ़ें: नाेएडा-गाजियाबाद में वीकेंड लॉकडाउन हटाने की तैयारी

कई सप्ताह से इं‍तजार के बाद शुक्रवार को सीबीएसई ने दोपहर दो बजे कक्षा 12 का परीक्षा परिणाम ( CBSE result ) घोषित कर दिया। मेरठ और आसपास के लिए जिलों में कई होनहारों ने अच्‍छे अंक के साथ बाजी मारी। मेरठ में कई होनहारों को 490 अंक से ज्‍यादा का नंबर मिले तो व‍हीं कई मेधावियों ने 450 का आंकड़ा पार किया। मेरठ में अदिति ने जिला टॉप किया है। अदिति को 500 में से 499 अंक मिले हैं। शामली में स्कॉटिश इंटरनेशनल स्कूल के आरव बालियान 99.2 फीसद के साथ जिले में प्रथम स्थान पर हैं।

सहारनपुर के रेनबो स्कूल की अदिति गोयल ने कॉमर्स स्ट्रीम में सर्वाधिक 99.8 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रथम स्थान हासिल किया है। डीडीपीएस बिजनौर की पीसीएम ग्रुप छात्रा मुस्कान अरोड़ा ने 99.2 अंक प्राप्त किए। रिजल्‍ट जारी होते ही सभी छात्रों के चेहरे खिले गए। कोविड के कारण प्री-बोर्ड के आधार पर ही अंक दिए गए हैं। इसे लेकर स्‍कूलों को सीबीएसई की ओर से मानक के आधार पर रिजल्‍ट तैयार करने के लिए कहा गया था जिसके बाद स्‍कूलों ने तैयारी के साथ सीबीएसई को पूरी जानकारी दी थी। शुक्रवार दोपहर दो बजे सीबीएसई ने रिजल्‍ट जारी कर दिया। मेरठ आसपास के जिलों के सभी बच्‍चे पास हुए हैं। सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा रद्द होने के बाद ही छात्रों को सीबीएसई के परिणाम का लंबे समय से इंतजार था। रिजल्‍ट की घोषणा से पहले ही कई बार जल्‍द परिणाम घोषणा के कयास लगाए जा रहे थे। छात्र-छात्राओं में परिणाम की घोषणा को लेकर खुशी लहर है।

यह भी पढ़ें: UP Assembly Elections 2022: किसी भी दल की हो सरकार यादव प्रभावी भूमिका में, 5 बार बनी यादवों की सरकार

यह भी पढ़ें: कारगिल युद्ध के दौरान भारत-पाकिस्तान के हालातों को बयां करती है लाइन: ऋषि भूटानी