Meerut में 24 घंटे में कोरोना से चौथी मौत, 17 वर्षीय किशोरी ने भी तोड़ा दम

|

Published: 05 Jun 2020, 11:14 AM IST

Highlights

- जिले में नहीं रूक रहा कोरोना से मौतों का सिलसिला
- मरने वाली किशोरी अब तक सबसे कम उम्र की

मेरठ. कोरोना से मेरठ में एक और मौत हो गई। जाग्रति विहार निवासी 17 वर्षीय चांदनी नामक युवती ने मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में दम तोड़ दिया। मेडिकल कॉलेज मेरठ के प्रधानाचार्य डॉ. एस गर्ग ने इसकी पुष्टि की है। इस तरह जिले में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 32 हो चुकी है। जिले में कोरोना से मरने वाली सबसे कम उम्र की यही किशोरी है। इससे पहले जिले में जितनी भी मौतें कोरोना के चलते हुईं, उनमें सब 30 वर्ष से अधिक आयु के मरीज थे।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: UP के इस शहर में भी हो सकेगी Covid-19 की जांच, सरकार ने दी टेस्टिंग मशीन

मेरठ मेडिकल कोविड-19 वार्ड का बुरा हाल है। जब से वार्ड में मरीजों की भर्ती हई है, तब से कोई दिन ऐसा नहीं जा रहा जब किसी कोरोना पीडित की मौत न हो रही हो। इसको लेकर मृतकों के परिजनों ने मेडिकल प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप भी लगाया है। लखनऊ से कई मंत्री और अधिकारी मेडिकल कालेज का दौरा कर चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी मेरठ में कोरोना पीड़ित मरीजों की मौत का सिलसिला नहीं रुक रहा है। गत बुधवार को भी तीन कोरोना पीडितों की मौत हुई थी। हालांकि इनमें से एक पूर्व सैनिक था और वह आर्मी अस्पताल में भर्ती था, लेकिन दो की मौत मेडिकल कालेज के कोविड-19 वार्ड में ही हुई।

बता दें कि इससे पहले जब सुभाष नगर निवासी टैक्सी ड्राइवर की मौत हुई थी तो उनके परिजनों ने मेडिकल प्रशासन और चिकित्सकों पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाए थे। कोविड-19 वार्ड में आए दिन हो रही मौतों को लेकर कमिश्नर अनिता सी मेश्राम ने भी गंभीरता दिखाई थी। उन्होंने मेडिकल का दौरा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए थे, लेकिन उसके बाद भी हालातों में कोई सुधार नहीं है।

यह भी पढ़ें- Ghaziabad: थाने से 100 कदम दूर बदमाशों ने सभासद पर बरसाईं ताबड़तोड़ गोलियां, हालत नाजुक