Latest News in Hindi

यूपी में दौड़ेंगे प्लास्टिक के कचरे से बने डीजल से वाहन, कान्हा की नगरी में शुरू हुआ पहला प्लांट

|

Oct, 04 2019 08:22:55 (IST)

यमुनापार क्षेत्र के गांव नगला कोल्हू में शुक्रवार को इस इस प्लांट की सॉफ्ट लांचिंग सांसद हेमा मालिनी द्वारा की गई।

मथुरा। प्रदेश का पहला प्लास्टिक कचरे से डीजल बनाने का प्लांट स्थापित हो गया है। यहां अब हर रोज 6 टन सिंगल यूज और रिसाइकल प्लास्टिक से डीजल तैयार किया जाएगा। पीपीपी मॉडल पर बनकर तैयार हुए इस प्लांट का संचालन बेंगलुरु की पीटरसन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी करेगी। यहां बने इस डीजल का उपयोग जनरेटर और मशीनों को चलाने में किया जाएगा। जल्द ही इस प्लांट का संचालन शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- Yamuna Expressway पर तेज रफ्तार कार ने दो किशोरियों को रौंदा, मौके पर ही मौत

यहाँ होगा प्लांट

यमुनापार क्षेत्र के गांव नगला कोल्हू में शुक्रवार को इस इस प्लांट की सॉफ्ट लांचिंग सांसद हेमा मालिनी द्वारा की गई। पीपीपी मॉडल पर प्लांट को लगाने वाली बेंगलुरु की कंपनी पीटरसन प्राइवेट कंपनी के प्रबंध निदेशक विद्या अमर नाथ ने बताया कि यह उत्तर प्रदेश का पहला प्लांट है जहां सिंगल यूज और रिसाइकल प्लास्टिक से डीजल तैयार हो सकेगा। इस प्लांट की खासियत ये होगी कि यहां हर दिन 6 टन प्लास्टिक का इस्तेमाल डीजल बनाने में होगा। कंपनी अधिकारियों का कहना है कि प्लांट पर 1 टन सिंगल यूज प्लास्टिक से 300 लीटर और रिसाइकल प्लास्टिक से 500 लीटर डीजल तैयार होगा। यह तैयार डीजल को 50 रुपए प्रतिलीटर की दर से बेचा जाएगा और इस डीजल का प्रयोग जनरेटर, पंपसेट के अलावा औद्योगिक इकाइयों की मशीनों के संचालन में हो सकेगा। कंपनी से प्रबन्ध निदेशक का कहना है कि जल्द ही प्लांट का संचालन शुरू हो जाएगा। इस प्लांट के तैयार होने के बाद नगर निगम के अफसरों ने भी खुशी जाहिर की है।

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद भी शुरू नहीं हो सका पशुओं का टीकाकरण

प्लास्टिक कचरे से मिलेगी निजात

निगम के संयुक्त आयुक्त अजीत कुमार ने बताया कि इस प्लांट के स्थापित होने से नगर निगम के अलावा जनपद की सभी नगर पंचायतों से निकलने वाले प्लास्टिक का डीजल बनाने में प्रयोग के लाया जाएगा साथ ही जिले को प्लास्टिक कचरे से भी निजात मिल सकेगी।

Related Stories