बैंकों के दम पर शेयर बाजार ने मारी 108 अंकों की छलांग

|

Published: 27 Mar 2018, 05:14 PM IST

मंगलवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 107.98 अंक की तेजी के साथ 33,174.39 अंक पर बंद हुआ।

नई दिल्ली। विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच बैंकों के साथ टीसीएस, एलएंडटी और मारुति सुजुकी के शेयरों में लिवाली से मंगलवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स लगातार दूसरे दिन हरे निशान में रहा। यह 0.33 फीसदी यानी 107.98 अंक की तेजी के साथ 33,174.39 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स जहां पूरे दिन बढ़त में रहा, वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी ज्यादातर समय लाल निशान में रहा और शाम को सोमवार के 10,184.15 अंक पर ही बंद हुआ। दूरसंचार को छोडक़र अन्य 19 समूहों में तेजी रही। देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल में हुई जबरदस्त बिकवाली से दूरसंचार पर दबाव रहा। एयरटेल के शेयर ढाई फीसदी के करीब गिरे। धातु समूह में डेढ़ फीसदी से अधिक की तेजी रही। सेंसेक्स की कंपनियों में भारतीय स्टेट बैंक के शेयर सर्वाधिक तीन फीसदी टूटे।

मंझोली और छोटी कंपनियों में रही तेजी
सेंसेक्स 106.57 अंक की बढ़त में 33,172.98 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में ही इसने 33,371.04 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छुआ। लेकिन, इसके बाद दोपहर से पहले ही 33,077.13 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतर गया। अंतत: यह सोमवार की तुलना में 107.98 अंक ऊपर 33,174.39 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 3.85 अंक की मामूली तेजी में 10,188 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान का इसका उच्चतम स्तर 10,207.90 अंक और निचला स्तर 10,139.65 अंक रहा। मंझोली और छोटी कंपनियों में भी तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 1.06 फीसदी की बढ़त में 16,048.33 अंक पर और स्मॉलकैप 1.36 फीसदी की तेजी के साथ 17,152.93 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,807 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,844 के शेयर हरे और 807 लाल निशान में रहे, जबकि 156 के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुए बिना किसी परिवर्तन के बंद हुए।

विदेशी बाजारों में भी रही तेजी
मंगलवार को विदेशी बाजारों में भी तेजी दर्ज की गई। एशिया में दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.61 फीसदी, हांगकांग का हैंगसेंग 0.79 फीसदी, चीन का शंघाई कंपोजिट 1.04 फीसदी और जापान का निक्की 2.65 फीसदी की बढ़त में रहा। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 1.91 फीसदी और जर्मनी का डैक्स 2.04 फीसदी चढ़ा।