कोरोना वायरस के कारण फिर देखने को मिल सकती है बाजार में गिरावट

|

Updated: 18 Oct 2020, 01:11 PM IST

  • आने वाले सप्ताह में तिमाही नतीजों पर भी रहेगी शेयर बाजार की नजर, ग्लोबल बाजार पर रहेंगी निगाहें
  • कोरोना की वजह से वैश्विक अंकुश की खबरें भी कर सकती हैं शेयर बाजार को प्रभावित, देखने को मिल सकती है मुनाफावसूली

नई दिल्ली। अगले सप्ताह आने वाले तिमाही नतीजों और ग्लोबल कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से लगने वाले संभावित अंकुश पर भारतीय शेयर की निगाहें रहेंगी। जानकारों की मानें तो शेयर बाजार में फिर से उतार चढ़ाव का दौर देखने को मिल सकता है। जिससे मुनाफा वसूली हो सकती है। यूरोप में एक बार फिर से कोरोना वायरस का कहर बरपा है। जिसकी वजह से लॉकडाउन लगाने का फैसला हो सकता है। जिसकी वजह से वैश्विक शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिल सकती है। जिसका असर भारतीय शेयर बाजार में देखने को मिल सकता है।

यह भी पढ़ेंः- रिकॉर्ड उंचाई पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार, जानिए कितना हुआ इजाफा

विदेशी घटनाक्रम प्रभावित कर सकते हैं शेयर बाजार
जानकारों की मानें तो आने वाले सप्ताह में कोरोना वायरस को लेकर विदेशी घटनाक्रमों से शेयर बाजार प्रभावित हो सकता है। यूरोप में एक बार फिर से कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। ऐसे में कुछ यूरोपीय देशों में लॉकडाउन की खबरें आ सकती है। जिस पर भारतीय शेयर बाजार की निगाहें रहेंगी। वहीं दूसरी ओर अमरीका में राष्ट्रपति की तैयारियां भी जारी हैं। ऐसे में डोनाल्ड ट्रंप के हरेक बयान पर बाजार अपनी नजरें रखेगा। वहीं चीन के सकल घरेलू उत्पाद के आंकड़ों पर रहेगी।

यह भी पढ़ेंः- छह महीनों में Gold And Silver Import में कमी आने से कितना हुआ देश को फायदा

तिमाही नतीजों पर रहेगी नजर
आने वाले सप्ताह में कई कंपनियों के तिमाही नतीजे आने वाले हैं, जो शेयर बाजार को प्रभावित कर सकते हैं। इस सप्ताह एशियन पेंट्स, एसीसी, बजाज ऑटो, हिंदुस्तान यूनिलीवर, अल्ट्राटेक सीमेंट, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, हेक्सावेयर टेक्नोलॉजीज और आईडीबीआई बैंक के तिमाही नतीजे आएंगे। जानकारों की मानें तो निवेशकों की निगाह कंपनियों के तिमाही नतीजों रहेगी।

यह भी पढ़ेंः- डूबे Jet Airways को मिला सहारा, इस महीने 30 फीसदी बढ़ गए शेयरों के दाम

देखने को मिल सकता है करेक्शन
बीते सप्ताह बांबे स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में 526.51 अंक या 1.29 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी। जानकारों के अनुसार बाजार के तेजी से कोविड-19 के पूर्व के स्तर पर पहुंचने की वजह से अब उसमें कुछ करेक्शन देखने को मिल सकता है। इससे बाजार में कुछ उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा, जो कुछ समय तक कायम रहने का अनुमान है। मौजूदा उच्चस्तर पर मुनाफावसूली भी देखने को मिल सकती है।