भोर तक चला कवि सम्मेलन

|

Published: 02 Apr 2018, 06:53 PM IST

जुबां से बोलता कुछ नहीं मगर तिरंगा जानता सब कुछ है

pratapgarh


कईप्रस्तुतियां दी
देर रात तक चला दलोट कवि सम्मेलन

दलोट.
यहां कस्बे में दलोट में चल रहे तीन दिवसीय खेड़ापति हनुमान मेले में रविवार रात को कवि सम्मेलन हुआ। जिसमें कवियों ने भोर तक प्रस्तुतियां दी। मेला कमेटी अध्यक्ष घनश्याम गुडलक, भंवर दलाल व सदस्यों ने अतिथि व कवियों का स्वागत किया। बांसवाड़ा से आई कवियत्री माही ने सरस्वती वन्दना से कार्यक्रम का आगाज किया।मालवी हास्य रामू हठिला ने अपनी परम्परा शैली से लोगों को हंसाया। खाचरोद से आए कवि विष्णु विश्वास ने हास्य रचना पढ़ी।
मुम्बई के चेतन चर्चित ने हंसाया। माही ने श्रृंगार रस बहाया। संचालन कर रहे कमलेश दवे व माही के बीच नोंक झोंक हुई। इन्दौर के प्रोफेसर राजीव शर्मा ने हिन्दी मंच का अलग प्रस्तुतियां दी। बडऩगर के पुष्पेन्द्र पुष्प ने अपनी सुरीली आवाज से गाने गाए। मोहेडा के राधेश्याम धनगर ने ओज का माहौल बनाया। कोटा से के जगदीश सोलंकी ने तो पूरी समां ही बांध दी।उन्होंने तिरंगा जानता सब कुछ है पर बोलता कुछ नहीं...तथा बदनाम बस्ती तथा और भी रचनाएं सुनाई। वयोवृद्ध कवि शंकर पाटीदार, खूंटवास के ईश्वर मीणा ने गीत सुनाए। सूत्रधार लोकेश भट्ट दलोट ने कन्या भ्रूण हत्या पर कविता सुनाई। संचालन कर रहे कमलेश दवे ने कविता पढ़ी।
---

स्वास्थ्य भवन में चला सफाई अभियान
प्रतापगढ़
स्वच्छता से सिद्धी पखवाड़ा के तहत सोमवार को चिकित्सा विभाग में साफ -सफाई का दौर चला। अभियान के तहत मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी ने अपनी टीम के साथ जिला कलक्ट्रेट परिसर स्थित स्वास्थ्य भवन एवं आस-पास के स्थान पर सफाई की। इसी के साथ जिलेभर के चिकित्सकीय संस्थानों में साफ-सफाई के लिए विशेष अभियान चलाया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि प्रधानमंत्री के आह्वान पर स्वच्छ भारत अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें सामूहिक शपथ लेने के साथ ही सफाई का का वृहत स्तर पर अभियान चलेगा। उन्होंने अभियान के बारे में बताते हुए कहा कि इस पखवाड़े में विशेष रूप भर्ती रोगियों के वार्ड में साफ-सुथरी चद्दर, टॉयलेट, ओपीडी में नियमित अंतराल में सफाई, स्वच्छ जल इत्यादि पर विशेष रूप से फोकस किया गया है। इसी के साथ कार्यालयों में निष्प्रयोज्य पड़ी वस्तुओं का निस्तारण करने के साथ ही भवन के आस-पास सफाई एवं पौधरोपण का कार्य किया जाएगा।