नौनिहालों ने गटकी दो बूंद जिन्दगी की

|

Updated: 11 Mar 2018, 06:17 PM IST

-पल्स पोलियों अभियान के पहले दिन बच्चों को पिलाई दवा

नौनिहालों ने गटकी दो बूंद जिन्दगी की

प्रतापगढ. जिले में पल्स पोलियो अभियान के दौरान पहले दिन रविवार को नौनिहालों को दवा पिलायी गई। जिला चिकित्सालय में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ओ पी बैरवा, पीएमओ डॉ राधेष्याम कच्छावा एवं नर्सिंग अधीक्षक राधेश्याम शर्मा ने बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाकर अभियान का आगाज किया। इसी के साथ ही अलग अलग उपखण्ड मुख्यालयों पर चिकित्साधिकारियों ने पल्स पोलियो अभियान में बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई। अभियान के दौरान सोमवार व मंगलवार को घर-घर जाकर पोलियो की दवा पीने से छूट गए बच्चों को दवाई पिलाई जाएगी।
डेढ़ लाख का लक्ष्य
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ.पी. बैरवा ने बताया कि अभियान के तहत 5 वर्ष तक के एक लाख 47 हजार 955 बच्चों के पोलियो वेक्सिनेशन का लक्ष्य है। इसके लिए स्थाई बूथ, ट्रांजिट बूथ एवं मोबाइल टीम का गठन किया गया है।सभी चिकित्साकर्मियों को हिदायत दी गई है कि की कोई भी 5 साल से छोटा बच्चा पोलियों की खुराक पिये बगैर नहीं रहना चाहिए।
रोककर पिलाई दवा
अभियान के दौरान कई बूथों पर कर्मचारियों ने राह चलते वाहनों पर छोटे बच्चों को देखकर वाहन रुकाया और अभिभावकों से बच्चों को पोलियो की दवाई पिलाने के बारे में पूछा। जिस पर कई पढ़े-लिखे अभिभावक भी भूल जाने की बात कहते हुए शर्मिंदा होते नजर आए।
कच्ची बस्तियों में जागरुकता नहीं
पोलियो अभियान के दौरान शहर की जिन कच्ची बस्तियों के आसपास पोलियो बूथ लगाए गए वहां दवा पीने वाले बच्चों की संख्या काफी कम दिखाई दी। कच्ची बस्तियों के लोग जागरुकता के अभाव में पोलियो बूथों पर कम संख्या में बच्चों को दवाई पिलाने लाए। बूथ पर मौजूद स्वास्थ्य कर्मचारियों ने बताया कि हर बार यही स्थिति रहती है। जिसके चलते अभियान के दूसरे व तीसरे दिन बस्तियों में जाकर बच्चों को पोलियो की दवाई पिलाई जाती है।
हाई रिस्क एरिया पर विशेष ध्यान
चिकित्सा विभाग की ओर से जिले के हाई रिस्क एरिया पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अभियान के पहले दिन भी सुबह और शाम को चिकित्सा विभाग की टीम ने बच्चों को पोलियो की दवाई पिलाने के लिए सावचेती बरती। सोमवार और मंगलवार को भी घर-घर जाकर यह सुनिश्चित किया जाएगा कि 5 वर्ष से कम उम्र का कोई भी बच्चा पोलियो वेक्सिनेशन से वंचित नहीं रह जाए।
अधिकारियों ने रखी निगाह
अभियान के दौरान प्रशासन और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने विभिन्न बूथों का निरीक्षण कर पूरी सजगता बरती। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ओ पी बैरवा सहित विभिन्न ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, चिकित्सा केन्द्र प्रभारियों ने बूथों का निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया।
कैप्सन-जिला चिकित्सालय में पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ करते मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी व पीएमओ ।